जान जोखिम में डाल काम करती है हरियाणा पुलिस, खट्टर ने किया पुलिस के जवानों को खुश

0
570

चण्डीगढ, 20 मई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा पुलिस के जवानों का कार्य जोखिम भरा है, इस दौरान मृत्यु होने पर मिलने वाली राहत राशि को 10 लाख रूपये से बढ़ाकर 30 लाख रूपये तक किया है,इनमें से 5-5 लाख रूपये मृतक जवान के माता-पिता को तथा 20 लाख रूपये उनके आश्रितों को दिये जाएंगे, यदि उनके माता-पिता नहीं है तो यह सारी राशि जवान के आश्रितों को दी जाएगी। इसके अतिरिक्त अति गंभीर रूप से घायल होने की स्थिति में जवान को 15 लाख रूपये,गंभीर रूप से घायल होने पर 10 लाख रूपये व मामूली घायल होने वाले जवान को 5 लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि देने की घोषणा की।
मुख्यमंत्री आज करनाल के मधुबन पुलिस अकादमी परिसर में 84वें बैच पासिंग आउट परेड दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। इससे पहले मुख्यमंत्री ने परेड का निरीक्षण किया। इस दीक्षांत समारोह में 4225 जवानों ने कत्र्तव्यनिष्ठा की शपथ ली,जवानों ने मार्च पास्ट किया तथा पुलिस जवानों द्वारा पीटी शो का प्रदर्शन भी किया। मुख्यमंत्री ने परेड में शामिल सभी जवानों की चार दिनों की छुट्टी की घोषणा की। उन्होंने पुलिस के जवानों में जोश भरते हुए कहा कि यदि जवान नैतिकता,न्याय,निडरता और निपुणता के भाव लेकर सेवा करेंगे तो,उनको भविष्य में कभी असफलता नहीं मिलेगी। पुलिस का कत्र्तव्य है कि वे संविधान के अनुसार समाज में एकता,अखंडता और संप्रभुत्ता को कायम रखे। उन्होंने कहा कि कुंडली-मानेसर मार्ग व कुंडली-गाजियाबाद-पलवल मार्ग पर हरियाणा के सोनीपत,झज्जर,गुरूग्राम,मेवात,पलवल और फरीदाबाद जिले लगते है,इन सभी 6 जिलों में ट्रैफिक थाने खोले जाएंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा पुलिस की यह भर्ती पूर्ण रूप से मैरिट के आधार पर रही। इस भर्ती में जरूरी शैक्षणिक योग्यता से भी अधिक पढ़े-लिखे जवानों ने ट्रेनिंग प्राप्त की है। जवान आगे भी उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते है,तो उन्हें अब विभाग से एनओसी नहीं लेनी होगी,उन्हें विभाग को केवल सूचना देनी होगी और विभाग से छुट्टी भी मिलेगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार का उद्देश्य है कि प्रदेश का हर नागरिक आगे बढ़े और उनको आगे बढऩे के समान अवसर मिले। उन्होंने जवानों को कहा कि आज के दीक्षांत समारोह में उन्होंने संविधान के अनुसार कत्र्तव्यनिष्ठा की शपथ ली है,वह इस शपथ का पालन करते हुए ईमानदारी से समाज की सेवा करें और इस बात का ध्यान रखे जो उनकी भर्ती हरियाणा सरकार द्वारा की गई है,वह बिलकुल पारदर्शिता और ईमानदारी से की है,वह भी अपना फर्ज इसी प्रकार से निभाए। उन्होंने कहा कि हर जवान को चाहिए कि वे राष्ट्र को अपना राष्ट्र समझे। उन्होंने इस दीक्षांत समारोह में सभी जवानों व उनके परिवारजनों को बधाई दी।
हरियाणा के गृह सचिव एस.एस.प्रसाद ने कहा कि हरियाणा पुलिस के इतिहास में यह एक बड़ा मौका है,जहां एक साथ 4225 सिपाही प्रशिक्षण लेकर कानून व्यवस्था बनाए रखने तथा लोगों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर कानून व्यवस्था ठीक है,तो सब कुछ ठीक रहेगा,ऐसे में गृह विभाग की और जिम्मेदारी बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार का प्रयास है कि पुलिस के प्रति लोगों की सोच में बदलाव आए और पुलिस को अपना दोस्त समझे। इस दिशा में कईं कारगर कदम उठाए गए है ताकि पुलिस की छवि में निखार आए और दूसरे राज्यों के लिए प्रेरणास्त्रोत बने। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि हरियाणा पुलिस की हाल ही में जो भर्ती हुई,वे केवल मैरिट के आधार पर ही हुई है और इस भर्ती के माध्यम से ना केवल योग्य युवाओं को देश व समाज सेवा का मौका मिला है बल्कि पुलिस को भी उच्च शिक्षा प्राप्त सिपाही मिले है। उन्होंने खुशी जाहिर की कि उनके कार्यकाल में यह भर्ती हुई है।
पुलिस महानिदेशक बी.एस संधू ने कहा कि वर्ष 1990 के बाद ऐसा पहला ऐतिहासिक दिन है,जिसमें एक साथ 4225 जवानों का दीक्षांत समारोह हुआ हो,जबकि इससे पहले 3400 सिपाहियों ने प्रशिक्षण लिया था। मधुबन कॉम्पलेक्स हिन्दुस्थान का विख्यात ट्रेनिंग सेंटर है,इसमें देश और विदेश के करीब 2 लाख 50 हजार जवान प्रशिक्षण ले चुके है ,जो कि अपने आप में एक बहुत बड़ा रिकार्ड है। इतना ही नहीं एडवोकेट व जज भी यहां प्रशिक्षण ले चुके है। इस भर्ती में 50 प्रतिशत लोग उच्च डिग्री प्राप्त है। हरियाणा पुलिस सेवा सुरक्षा सहयोग के माध्यम से प्रदेश के लोगों की सेवा कर रही है। डायल 100 प्रदेश के लोगों के लिए कारगर सिद्ध होगा। इस मौके पर मधुबन एकादमी के निदेशक के.के.सिद्धु ने आए हुए अतिथियों का धन्यवाद किया तथा अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित भी किया।
इस अवसर पर असंध के विधायक बख्शीश सिंह विर्क,घरौंडा के विधायक हरविन्द्र कल्याण,पुलिस अधिकारी हरियाणा पुलिस आवास निगम के प्रबंध निदेशक ए.के ढुल, मधुबन अकादमी के निदेशक के.के सिद्धु,होमगार्ड के महानिदेशक बी.के. सिन्हा,पीआर देव स्टेट विजिलेंस ब्यूरों, आई.जी. सुभाष यादव,उपायुक्त डा०आदित्य दहिया,एसपी एस.एस.भोरिया, ओएसडी अमरेन्द्र सिंह, भाजपा के जिलाध्यक्ष जगमोहन आंनद,जिला महामंत्री योगेन्द्र राणा,शमशेर नैन आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY