राजनैतिक रोटियां सेकने वालों से सावधान रहें, हरियाणा के ढाई करोड़ लोगों को मैं अपना परिवार समझता हूँ: खट्टर

0
237

चण्डीगढ़, 20 मई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने की जिम्मेवारी पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा की थी, क्योंकि वे उस समय कृषि उत्पादन के लिए बने मुख्यमंत्रियों के कार्य समूह के चेयरमैन भी थे, परन्तु उन्होंने अपने कार्यकाल में कुछ नहीं किया,केवल किसान नेता सिद्ध करने की हाय-तौबा रखी,परन्तु हमने किसानों के लिए स्वामी नाथन आयोग की रिपोर्ट से भी ज्यादा काम किया है। किसानों की आय दोगुनी हो,इसे अपने आप को किसान नेता कहने वालों ने कभी सोचा भी नहीं होगा। उन्होंने कहा कि ‘हमने किसानों को नुकसान से उपर उठाने के लिए भावान्तर योजना लागू की है,हमने इस योजना में प्रदेश के किसानों को कहा कि घाटा सरकार का और फायदा किसान का है’। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए फसल बीमा योजना लागू करके हजारों किसानों को लाभ दिया और प्राकृतिक आपदा के कारण फसलों के हुए खराबे में प्रति एकड़ 10 हजार नहीं बल्कि 12 हजार रूपये मुआवजा दिया, अब प्रदेश के लोगों को सोचना होगा कि किसान हितैषी हम है या वे?
मुख्यमंत्री ने यह बात आज करनाल में कही। उन्होंने कहा कि एक ओर पार्टी ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिए एसवाईएल के पानी का मुद्दा उठाया है। उनका कहना है कि यदि हरियाणा सरकार प्रदेश में एसवाईएल का पानी नहीं लाएगी तो हम जेल भरो आंदोलन करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने कार्यकाल में उन्होंने कभी एसवाईएल का पानी याद नहीं आया,जब भारतीय जनता पार्टी ने एसवाईएल के मुद्दे को माननीय सुप्रीम कोर्ट में उठाया,जिसका अंतिम निर्णय शीघ्र ही आने वाला है। इन नेताओं को भी कहीं से इसकी भनक लग गई,अब वे बिना कुछ करे अर्थात उंगली कटवाकर शहीद होने का दर्जा प्राप्त करना चाहते है, जबकि आने वाले कुछ ही समय में एसवाईएल का मामला है, वो हरियाणा के पक्ष में होगा और हरियाणा को उसके हिस्से का पानी मिलेगा, हरियाणा सरकार इसके लिए सख्ती से कार्यवाही कर रही है।
मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता को आगाह किया कि वे ऐसे राजनैतिक लोगों से सावधान रहे ,जो केवल अपनी-अपनी राजनैतिक रोटिया सेंकते है। जो बिना कुछ करे अपने हाथ से ही अपनी पीठ थपथपाने का कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा कि विपक्ष मुद्दाहीन हो गया है, वे केवल लोगों को गुमराह कर रहे है। प्रदेश की जनता के लिए हम काम कर रहे है। हमने बिना किसी भेदभाव के काम किया है। मुख्यमंत्री ने खुले मंच से कहा कि प्रदेश की जनता को कोई भी सार्वजनिक कार्य हो,उसके लिए हरियाणा सरकार हर संभव पूरा करने के लिए तैयार है,इसके लिए सरकार के पास पर्याप्त बजट है। हमने वर्ष 2014 के 60 हजार करोड़ के बजट को बढ़ाकर 115 लाख करोड़ किया है। हम किसी से भेदभाव नहीं करते बल्कि हरियाणे की अढाई करोड़ जनता मेरे लिए एक परिवार की तरह है।

LEAVE A REPLY