सीएम खट्टर ने अधिकारियों को दी नसीहत, गरीब की बात को सुने

0
384

चंडीगढ़, 29 जून- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने अधिकारियों को नसीहत देते हुए कहा कि अफसर हो तो क्या हुआ, एक गरीब की बात नहीं सुनोगे? हमें कर्मचारियों के व्यवहार को ठीक करना आता है, हमारा कार्य जरूरतमंद की सहायता करके, उसकी आवाज को बुलंद करना है। मुख्यमंत्री ने मोदीपुर गांव के चकबंदी पटवारी नफे सिंह के खिलाफ रिश्वत की आई शिकायत पर, उन्हें सस्पेंड करने के निर्देश दिये। तरावड़ी की रहने वाली जय देवी की पिछले एक साल से पेंशन ना मिलने के कारण मुख्यमंत्री ने उपायुक्त को निर्देश दिये कि इसकी जांच की जाए, यदि जांच में जिला समाज कल्याण अधिकारी की गलती पाई जाती है तो उसको संस्पेड किया जाए और यदि आवेदक की गलती पाई जाती है तो उसके खिलाफ भी जो नियमानुसार कार्यवाही की जाए। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने जनता दरबार में घरौंडा के विधायक हरविन्द्र कल्याण द्वारा रोड़वेज के जीएम द्वारा आम जनता की अनदेखी करने की बात पर उन्हें अंतिम चेतावनी दी।
मुख्यमंत्री आज नई अनाज मंडी, करनाल में जनता दरबार लगाकर लोगों की समस्याएं सुनी तथा अधिक्तर समस्याओं का निराकरण किया। मुख्यमंत्री ने जनता दरबार में आई करीब 121 समस्याओं को सुना और अधिकारियों के सहयोग से उनका निराकरण किया। जिन समस्याओं का निराकरण मुख्यालय से होना था, वह अपने साथ ले गए।
जनता दरबार के दौरान करीब 450 लोगों ने अपने प्रार्थना पत्र शिकायतकर्ताओं से लिए और आश्वासन दिलाया कि आपकी हर शिकायत पर कार्यवाही होगी। मुख्यमंत्री ने एक पंचायती जमीन पर कब्जा संबंधी मामले पर संज्ञान लेते हुए नीलोखेड़ी के बीडीपीओ को निर्देश दिये कि सरकारी या पंचायती जमीन पर कब्जा हो जाता है, परन्तु अधिकारी देखते रहते है, ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही होगी जो अपने सामने पंचायती व सरकारी जमीन पर कब्जा करवाते है। उन्होंने सभी बीडीपीओ को निर्देश दिये कि वे पहले निशानदेही करवाकर पंचायती जमीन पर हो रहे कब्जे को छुटवाएं। श्याम नगर वासी गोपाल कृष्ण ने मुख्यमंत्री घोषणा के तहत प्रीतम नगर में पार्क का कार्य जल्द शुरू करवाने तथा श्याम नगर में बरसाती सीजन के दौरान होनेे वाले जलभराव के स्थाई समाधान के संबंध में शिकायत मुख्यमंत्री को दी,जिस पर मुख्यमंत्री ने नगर निगम के आयुक्त को उक्त कार्य को पूरा करवाने के निर्देश दिये।
जनता दरबार में पुलिस संंबंधी कईं मामले आए, जिनके निराकरण के लिए मुख्यमंत्री ने पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि वे स्वयं इन मामलों को देखें ताकि लोगों को समय पर और सही न्याय मिल सके।
इस मौके पर खाद्य,नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री कर्णदेव काम्बोज, श्रम एवं रोजगार मंत्री नायब सैनी, असंध के विधायक बख्शीश सिंह विर्क,नीलोखेड़ी के विधायक भगवानदास कबीरपंथी, घरौंडा के विधायक हरविन्द्र कल्याण,शुगर फैड के चेयरमैन चंद्रप्रकाश कथूरिया, ओएसडी अमरेन्द्र सिंह, भाजपा के प्रदेश महामंत्री एडवोकेट वेदपाल, जिलाध्यक्ष जगमोहन आंनद, स्वच्छ भारत मिशन हरियाणा के कार्यकारी उपाध्यक्ष सुभाष चंद्र, केश कला बोर्ड के उपाध्यक्ष यशपाल ठाकुर, मेयर रेनू बाला गुप्ता,भाजपा नेता अशोक सुखीजा, हरियाणा सफाई आयोग के सदस्य आजाद सिंह, जिला भाजपा महामंत्री योगेन्द्र राणा,राजबीर शर्मा, जगदेव पाढा, शमशेर नैन, पूर्व मंत्री शशिपाल मेहता,पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री आई डी स्वामी,पूर्व विधायक रमेश कश्यप सहित गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY