दुग्ध उत्पादन में इजरायल के सहयोग से और आगे बढ़ेगा हरियाणा

0
449
Haryana Agriculture and Farmers welfare Minister, Mr. O.P.Dhankar

चण्डीगढ़, 25 सितम्बर – दुग्ध उत्पादन में तेजी से आगे बढ़ रहे हरियाणा को इजरायल की तकनीक व अनुभव का लाभ मिलेगा तथा इससे हरियाणा की श्वेतक्रांति और मजबूत होगी। यह बात हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री ओमप्रकाश धनखड़ ने उनके नेतृत्व में इजरायल गए एक प्रतिनिधिमंडल की वहां के कृषि मंत्री श्री उरी एरियल व इजरायली प्रतिनिधिमंडल से भेंट करने के उपरांत कही। इससे पहले इजरायल पहुंचने पर हरियाणा के प्रतिनिधिमंडल का गर्मजोशी से स्वागत हुआ।
इजरायल के रिसोन लट्सियोन शहर में कृषि मंत्री के मंत्रालय में हुई बातचीत में इजरायल के कृषि मंत्री श्री उरी एरियल ने कहा, हरियाणा से सहयोग हमारी प्राथमिकता है। हम हरियाणा में पहले भी पांच उत्कृष्टता केंद्रो पर मिलकर काम कर रहे हैं। आने वाले समय में दोनों के मध्य काम और सहयोग बढ़ेगा और हरियाणा को इसका लाभ मिलेगा।
हरियाणा के कृषि मंत्री के नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडल के समक्ष इजरायली कृषि मंत्री ने जानकारी रखी कि वहां के पशुओं का औसत दुग्ध उत्पादन 32 किलोग्राम प्रतिदिन है। इजरायल दुनिया का सबसे अधिक प्रति पशु दुग्ध उत्पादक देश है। हरियाणा राज्य अब अपना औसत दुग्ध उत्पादन बढ़ाने के लिए इजरायल की तकनीकों व अनुभवों का लाभ लेगा। इसकी सहमति हरियाणा और इजरायल के कृषि मंत्रियों के बीच बातचीत के दौरान हुई।

दोनों मंत्रियों के मध्य बागवानी व डेयरी में पहले से अधिक सहयोग करने, कृषि, बागवानी व पशु विज्ञान विश्व विद्यालयों में विशेषज्ञों व छात्रों के लिये अध्ययन आदान-प्रदान पर भी सहमति बनी है। ज्ञात रहे कि बागवानी के घरोंडा, मांगियाना, लाडवा में पहले से चल रहे पोस्ट हार्वेस्टिंग तकनीक, ग्राफटिंग, जैनेटिक मैटिरियल के केंद्रों में भी इजरायल अधिक सहयोग देगा। इसके अलावा राम नगर और झज्जर के सौंधी में शुरू होने वाले उत्कृष्टता केंद्रो पर चर्चा हुई। झज्जर के सौंधी में फूलों की सबसे बड़ी मंडी बनाने की दिशा में हरियाणा पहले से काम कर रहा है।
प्रतिनिधि मंडल में विधायक श्री श्याम सिंह राणा, श्री नरेश कौशिक, पशुधन बोर्ड के चेयरमैन श्री ऋषि प्रकाश शर्मा, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पी. के. महापात्रा, पशु पालन विभाग के महानिदेशक श्री गजेंद्र जाखड़, लाजपत राय विश्वविद्यालय के कुलपति श्री गुरदयाल सिंह, श्री सुनील सारन, श्री कृष्ण भगोरिया व श्री अभिनव बालियाण सामिल थे ।

LEAVE A REPLY