बल्लबगढ़ के चौधरी सहित लाखों ने दी चौधरी को जन्मदिन की बधाई, विजय-अजय ने कहा HBD देवेंद्र भाई

0
693

फरीदाबाद: अहंकार, घमंड, नशा सबसे दूसरों को नहीं अपनों को नुक्सान पहुंचाता है और सत्ता का नशा जिसे हो जाए उससे सत्ता बहुत जल्द छिन जाती है। आपने देखा होगा कि देश में तमाम नेता ऐसे हैं जिन्हे सत्ता मिलती है तो उनके बेटे, भाई भतीजे ही नहीं चाचा ताऊ और यहां तक कि जीजा, फूफा जैसे तमाम रिश्तेदारों को सत्ता का नशा चढ़ जाता है लेकिन पांच साल बाद ऐसे लोगों से सत्ता छिन भी जाती है और ऐसे लोग आसमान से जमीन पर ऐसे टपकते हैं कि फिर जिंदगी भर कराहते रहते हैं। वर्तमान में जिसके पास सत्ता रहती है उसे घमंड रहे तो अलग बात है लेकिन अधिकतर ऐसे देखा गया है कि जिन्हे जनता आसमान से जमीन पर टपका चुकी है उन्हें या उनके परिजनों को सत्ता से टपकने के बाद भी सत्ता का नशा छाया रहता है और आपने देखा होगा कि जब आप किसी पूर्व मंत्री विधायक के परिजनों से बात करते हैं तो वो आपसे उसी तरह बात करता है जैसे वो सत्ता के समय बात करता था। आपके सामने खुद को दुनिया का सबसे बुद्धिमान साबित करने का प्रयास करेगा। आप कोई बात करेंगे तो आपको बीच में ही टोंक देगा और खुद बकवास करने लगेगा। उसे ये नहीं मालुम कि उसके घर या रिश्तेदारी का वो व्यक्ति कितनी मेहनत करके सत्ता पाया होगा। उसे तो ये पता है कि हम सत्ताधारी के परिवार के हैं, रिश्तेदार हैं और जो कुछ हैं हमीं हैं बाकि लोग या जनता तो बेवकूफ है और ऐसे लोगों की ये सोंच उनके अपने से सत्ता छीन लेती है और फिर जो होता है अच्छा नहीं होता।

बात कर रहे हैं सत्ता की तो आपको मालुम को कि फरीदाबाद के इतिहास में पहली बार लोकसभा चुनावों के बाद जिले का कोई नेता केंद्र में मंत्री बना और वो हैं कृष्णपाल गुर्जर जो रिकार्ड मतों से जीते थे लेकिन उनमे या उनके परिजनों में सत्ता का नशा कभी नहीं देखा गया। आज मंत्री गुर्जर के सुपुत्र देवेंद्र चौधरी का जन्मदिन है और देवेंद्र चौधरी की बात करें तो वो जिला भाजपा महासचिव और नगर निगम के वरिष्ठ उप महापौर हैं लेकिन उनमे कभी सत्ता का नशा नहीं देखा गया और यही कारण है कि कल रात्रि बारह बजे के बाद अब तक लाखों लोग उन्हें जन्मदिन की बधाई दे चुके हैं और अब भी दे रहे हैं। अन्य पार्टियों के लोग भी देवेंद्र को जन्मदिन की बधाई देते देखे गए। आज शहर में हरियाणा भाजपा आलाकमान की बड़ी बैठक की वजह से देवेंद्र आफिस में समय नहीं दे सके लेकिन सैकड़ों लोग उन्हें बैठक हाल में ही बधाई देने पहुँच गए। बल्लबगढ़ के पार्षद दीपक चौधरी ने भी देवेंद्र को जन्मदिन की बधाई दी और मंत्री गुर्जर के सबसे ख़ास विजय बैसला ने तो देवेंद्र को कुछ ख़ास तरह की बधाई दी और सबसे पहले विजय के छोटे भाई अजय बैसला ने देवेंद्र को बधाई दी। समय समाप्त सन्डे है आगे की खबर अगली आठ जुलाई को लेकिन एक बात सत्य है ,देवेंद्र देश के ऐसे पहले किसी केंद्रीय मंत्री के सुपुत्र होंगे जिनमे सत्ता का कोई नशा नहीं है। इनका राजनीतिक भविष्य उज्जवल है।

LEAVE A REPLY