गुरुग्राम हत्याकांड: किसने छुपा रखे हैं छात्र के खून सने कपडे और चाकू?

I think investigation is being influenced by someone who does not want the truth to come out: Father of victim

चंडीगढ़: गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल में एक बात को सच है कि छात्र की ह्त्या गर्दन काटकर की गई थी लेकिन जिस औजार से की गई थी वो औजार कहाँ गायब हो गया। बच्चे के खून से सने कपडे किसने गायब किये हैं। पुलिस के तथ्यों के मुताबिक, प्रद्युम्न के पिता ने उसे 7.55 में स्कूल के गेट पर छोड़ा था। जबकि महज 15 मिनट बाद उन्हें बच्चे के लहूलुहान होने की खबर आ गई। अब सवाल ये है कि आखिर इतनी जल्दी ये वारदात कैसे हो गई वो भी तब जब बाथरुम उसके क्लास से महज दस कदम के फासले पर है। उस वक्त क्लास से लेकर कॉरीडोर में बहुत से बच्चे मौजूद थे। इसके अलावा क्या उस कंडक्टर ने कई दिन पहले से इसकी प्लानिंग कर रहा था कि उसे एेसे मारना जो इतने कम समय में पूरी वारदात को अंजाम दे दिया। इस बात की शिकायत तो खुद प्रद्युम्न के घरवाले भी कर चुके हैं कि स्कूल प्रबंधन ने पुलिस के पहुंचने से पहले ही बाथरुम से खून के धब्बे साफ करा दिए थे। सवाल ये है कि स्कूल प्रशासन ने पुलिस के पहुंचने तक घटनास्थल को जस का तस क्यों नहीं छोड़ा। एेसे में पुलिस ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ सबूत मिटाने की धाराएं क्यों नहीं जोडी।

आरोपी अशोक बस के टूल बॉक्स से चाकू लेकर उसे धोने के लिए बाथरुम गया था। हालांकि टूल बॉक्स में चाकू रखने का कोई तुक नहीं बनता है। एेसे में सवाल उठता है कि ये चाकू आरोपी खुद खरीद कर लाया था या किसी और का था। इसके अलावा वो टूट बॉक्स में चाकू क्यों रखा जाता था? कहीं न कहीं कोई गड़बड़झाला जरूर लगता है। पुलिस के बड़े अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं इसलिए मामले की तह तक जरूर पहुंचेंगे। हो सकता है मामले की जांच जल्द सीबीआई को सौंप दी जाए जिसकी मांग छात्र के पिता वरुण ठाकुर पहले दिन से ही कर रहे हैं। कल हरियाणा सरकार ने हामी भी भर दी है कि वो जिससे चाहें उससे जांच करवाई जाएगी।

loading...

Leave a Reply

*