बाबा केस, हरियाणा पहुँची भारी फ़ोर्स, बवाल से निपटने की बड़ी तैयारी

0
135
Gurmeet Ram Rahim Singh Rape Case Fatehabad News

चंडीगढ, 22 अगस्त- राम रहीम योन शोषण मामले को लेकर जिला फतेहाबाद के उपायुक्त हरदीप सिंह ने कहा कि जिला में शांति और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी पुख्ता प्रबंध किए जा चुके है। जिला में 5 पुलिस और 6 कंपनी पैरा मिलिट्री फोर्स की लगाई गई है। किसी भी स्थिति में कानून की पालना को सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि धरना प्रदर्शन या सड़क व रेल मार्ग को सरकार तथा न्यायालय द्वारा जारी की गई हिदायतों के अनुसार किसी भी सूरत में बाधित न होने दिया जाएगा। जिला में 18 डयूटी मैजिस्टे्रट लगाए गए हैं, जो अपने-अपने इलाके में अपनी डयूटी पर तैनात है और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तत्पर हैं।
श्री हरदीप सिंह ने कहा कि प्रशासन ने किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए सभी प्रबंध किए हैं और हर प्रकार से नजर रखी जा रही है। नाकों पर गहनता से जांच हो रही है और लगातार निगरानी भी रखी जा रही है। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी विभागों को अलर्ट पर रखा गया है। उन्होंने बताया कि बैंकर्ज, दुकानदारों और जिन घरों में सीसीटीवी कैमरें लगे हैं उनके सही संचालन को भी कहा गया है। उपायुक्त ने कहा कि बैंक, टे्रजरी, तहसील कार्यालयों की सुरक्षा बढ़ाई गई है ताकि कोई अनहोनी न हो।
फतेहाबाद के उपायुक्त ने बताया कि जिला में स्वास्थ्य विभाग को मुस्तैद रहने को कहा गया है और प्राईवेट अस्पताल भी मदद को तैयार हैं। जिला में एंबुलैंस, फायर बिग्रेड, जेसीबी, क्रेन आदि की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि जिला में किसी भी प्रकार के ज्वलनशील पदार्थों जैसे की पैट्रोल इत्यादि की खुली बिक्री पर रोक लगाने व अधिक मात्रा में तेल की आपूर्ति न देने की हिदायत भी दी गई है। कोई भी पैट्रोल पम्प संचालक वाहनों में ईंधन डालने के अलावा बोतल, बर्तन या किसी अन्य साधन में ईंधन नहीं देगा। उन्होंने कहा कि कोई अधिक मात्रा में तेल की आपूर्ति ले रहा है तो उसकी निगरानी की जा रही है।
उन्होंने कहा कि जिला के सामाजिक-धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों व गणमान्य व्यक्तियों से शांति व्यवस्था को कायम रखने के लिए प्रशासन को सहयोग करने की अपील की गई है और जिला भर में शांति कमेटियों की बैठक आयोजित की जा रही है। उनसे लगातार संपर्क रखा जा रहा है। अभी तक जिला में पूर्ण रूप से शांति है और लोगों का सहयोग भी मिल रहा है। उन्होंने उम्मीद जताई की नगारिकों का सहयोग शांति और कानून व्यवस्था बनाए रखने में हमेशा रहेगा। उपायुक्त ने बताया कि लाईसेंसधारकों को हथियार जमा करवाने के आदेश दिए गए है। नागरिक संबंधित थाने या डीलर के पास अपने हथियार जमा करवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि हथियार जमा नहीं करवाने वाले लाईसेंसधारक प्रशासन की नजर में है।
उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले असामाजिक तत्वों पर प्रशासन की पैनी नजर है और यदि कोई असामाजिक तत्व सोशल मीडिया पर किसी भी प्रकार की अफवाह या आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट करते पाया गया तो उसके खिलाफ अविलम्ब एफआईआर दर्ज की जाएगी।
फतेहाबाद के उपायुक्त ने मीडिया से भी कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सहयोग की अपील करते हुए कहा कि मीडिया भी अफवाहो पर ध्यान न दें और ऐसी अफवाहों का खंडन करे और प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने बताया कि नागरिक किसी भी प्रकार कोई सूचना और संपर्क के लिए उपायुक्त कार्यालय के दूरभाष नंबर 01667-230001 और 230002 और उनके कैंप कार्यालय के दूरभाष नंबर 01667-230003 तथा 230004 में सूचना दे सकते हैं। इसके अलावा, नागरिक पुलिस कंट्रोल रूम में 100 नंबर पर भी कॉल करके जानकारी दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी दुर्घटना या आपात स्थिति में मेडिकल हैल्प के लिए 108 नंबर पर डायल करके सहायता मांगी जा सकती है। उन्होंने जिला के आम नागरिकों से कहा कि वे प्रशासन का सहयोग करें और प्रशासन उनकी सुरक्षा का विश्वास दिलाता है।
इससे पूर्व उपायुक्त ने जिला अधिकारियों की बैठक लेकर कानून व्यवस्था की समीक्षा की और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि सतर्क रहें और बिना कोई कारण के मुख्यालय न छोडें। विभाग आपसी तालमेल भी रखे और अपने परिसरों, वाहनों की सुरक्षा भी सुनिश्वित करें। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक कुलदीप यादव ने कहा कि सुरक्षा हमारी प्राथमिकताओं में शामिल है। हर प्रकार से पैनी नजर रखी जा रही है।
जिला फतेहाबाद में पुलिस और अर्ध सैनिक बलों के जवानों ने आज फ्लैग मार्च निकाला, जो जिला के सभी मुख्य बाजारों, रिहायशी इलाकों और महत्वपूर्ण स्थलों से होकर गुजरा। इसके अलावा जिला के विभिन्न गांवों में भी फ्लैग मार्च निकाला गया। इस दौरान उपायुक्त हरदीप सिंह व पुलिस अधीक्षक कुलदीप सिंह ने पुलिसकर्मियों को किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए जरुरी दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिला में कानून-व्यवस्था को किसी भी सूरत में बिगड़ने नहीं दिया जाए। उन्होंने कहा कि सड़क, रेल इत्यादि को किसी भी सूरत में बाधित न होने दिया जाये, क्योंकि ऐसा होने से जनसाधारण को काफी असुविधा का सामना करना पड़ सकता है।

LEAVE A REPLY