हरियाणा सरकार ने माना, गीता जयंती पर खर्च हुए 20 करोड़

0
125

चंडीगढ़: हरियाणा विधानसभा बजट सत्र में कल भाजपा ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला खासकर पूर्व सीएम हुड्डा के जमीन अधिग्रहण के मामले पर सरकार ने कांग्रेस को घेरने का प्रयास किया। कांग्रेस के विधायक कुलदीप शर्मा और करण सिंह दलाल ने भी सरकार को गीता जयन्ती मामले में घेरना चाहा और सवाल किया कि अंतर्राष्ट्रीय गीता जयन्ती में खर्च का व्योरा दिया जाए । इसके लिखित जवाब में सरकार ने माना कि 7 करोड़ रुपये केवल प्रचार पर ही खर्च हो गए। सरकार ने पूरा आंकड़ा विधानसभा में जारी किया और आंकड़े के मुताबिक गीता जयन्ती पर सरकार ने 20 करोड़ खर्च किया है।

शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन के अनुसार, सभी जिलों में गीता जयंती समारोह आयोजित किए गए। प्रचार-प्रसार के लिए प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में 7 करोड़ 30 लाख रुपये से अधिक के विज्ञापन जारी किए गए। इसमें प्रिंट मीडिया पर 4 करोड़ 96 लाख 67 हजार और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर 2 करोड़ 34 लाख 12 हजार रुपये खर्चे गए। इसी तरह से 7 करोड़ 7 लाख 52 हजार रुपये की राशि सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर खर्ची गई। समारोह के दौरान हुई शैक्षणिक प्रतियोगिताओं पर सरकार ने 31 लाख 76 हजार रुपये लगाए। राज्यa मंडप एवं प्रदर्शनी पर 15 लाख 2 हजार और वैश्विक गीता पाठ तथा 18 हजार स्कूल विद्यार्थियों द्वारा अष्टादश श्लोकी पाठ के आयोजन पर 4 करोड़ 96 लाख 67 हजार रुपये की लागत आई।
कलाकारों एवं शिल्पकारों के भोजन, परिवहन व्यवस्था, सजावट, वीडियोग्राफी एवं फोटोग्राफी तथा अन्य सामान्य श्रेणी के तहत 2 करोड़ 34 लाख 12 हजार रुपए खर्च किए गए। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन पर 25 लाख तथा खेल प्रतियोगिताओं पर 6 करोड़ 31 लाख 13 हजार रुपये खर्च किए गए।

LEAVE A REPLY