फरीदाबाद के किसी भी विधानसभा क्षेत्र से किसी मुस्लिम चेहरे को मैदान में उतार सकती है कांग्रेस

0
278
Bihar Congress sps news

फरीदाबाद: मिशन 2019 के लिए हरियाणा सरकार बड़ी तैयारी में जुटी है। सभी बड़े मंत्री अपने काम काज का व्योरा देते दिख रहे हैं। मुख्य विपक्षी पार्टी इनेलो भी सरकार को बार बार कस्सी दिखा रही है और एक नहर खोदने को लेकर आंदोलन करने की तैयारी कर रही है। कांग्रेस की बात करें तो हुड्डा और तंवर दोनों अपने अपने तरीके से प्रदेश में बड़ी बड़ी जनसभाएं कर रहे हैं। विधानसभा चुनावों के लिए संभावित उम्मीदवार अब त्योहारों पर बड़े बड़े होर्डिंग पोस्टर लगाने लगे हैं। अब से लेकर होली तक जितने भी त्यौहार आएंगे शहरो के खम्भे नेताओ के मुबारकबाद से पटे रहेंगे। हरियाणा के फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र में कुल 9 विधानसभा सीटें हैं जिनमे 6 फरीदाबाद जिले में और तीन पलवल जिले में हैं। पृथला विधानसभा क्षेत्र का कुछ हिस्सा फरीदाबाद तो कुछ हिस्सा पलवल से भी जुड़ा है।

फरीदाबाद में पिछले चुनावों में मोदी लहर चली थी लेकिन उसके पहले जातिवाद पर यहाँ पर अधिकतर जातिवाद पर चुनाव लड़ा जाता देखा जाता है। अभी से बड़ी पार्टियां जातिवाद के समीकरण को खंगाल रही हैं। इस बार कांग्रेस की टिकट के सबसे ज्यादा दावेदार देखे जा सकेंगे क्यू कि जहां भाजपा के विधायक हैं वहां से भाजपा के अन्य लोग बहुत कम दावेदारी ठोंकेंगे। इस लोकसभा क्षेत्र के किसी विधानसभा क्षेत्र से इस बार कांग्रेस किसी मुस्लिम उम्मीदवार को मौका दे सकती है।

कांग्रेस एक तीर से कई निशाने साध सकती है क्यू कि लोकसभा क्षेत्र के लगभग हर विधानसभा क्षेत्रों में 15 से 25 हजार तक मुस्लिम मतदाता है। अगर कांग्रेस किसी मुस्लिम को किसी विधानसभा क्षेत्र से टिकट देती है तो हर विधानसभा क्षेत्र के मुस्लिम मतदाताओं का वो कांग्रेस को मिल सकता है और 15 बीस हजार मत कम नहीं होते और किसी किसी विधानसभा क्षेत्र में तो मुस्लिम मतदाताओं की संख्या 30 हजार के ऊपर है।
शायद यही कारण है कि संभावित मुस्लिम उम्मीदवार हरियाणा के वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं से मिलते जुलते देखे जा रहे हैं। कुछ कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर के संपर्क में हैं तो कुछ भूपेंद्र हुड्डा से मिलते जुलते देखे जा रहे हैं। कुछ नेताओं के संपर्क कुलदीप बिश्नोई और किरण चौधरी और कुमारी शैलजा से भी हैं। अगर कांग्रेस चुनावों से कुछ माह पहले किसी मुस्लिम चेहरे को किसी विधानसभा क्षेत्र से उतारने का एलान करती है तो लोकसभा चुनावों में भी कांग्रेस को इसका लाभ मिल सकता है।

LEAVE A REPLY