इलाहाबाद में लगे बैनर, यहाँ भाजपा नेताओं, कार्यकर्ताओं का आना मना है

0
252

नई दिल्ली: कद जितना ऊँचा होता जाता है विरोध की उतना ही ज्यादा होता है। वर्तमान समय में भाजपा का कद ऐतिहासिक ऊंचाई पर पहुँच चुका है इसलिए ऊंचाई से नीचे गिराने वाले भी अपना कामअपने तरीके से कर रहे हैं। केंद्र सहित कई राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं इसलिए विपक्ष कोई भी मौका नहीं चूकना चाहता और वर्तमान में दो दुष्कर्म की बारदातों ने देश को हिला दिया है और विपक्ष भी ये मुद्दा जमकर उसी तरह भुना रहा है जैसे दिल्ली निर्भया मामले में उस समय भाजपा ने, जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी। राहुल गांधी के बाद देश के अन्य शहरों में इन बारदातों के खिलाफ कांग्रेस सड़कों पर उतर कैंडल मार्च कर रही है। जहां जहाँ भाजपा की सरकारें हैं वहाँ प्रदर्शन ज्यादा हो रहे हैं। हाल के घटनाओं को लेकर इलाहाबाद में एक नए तरह का विरोध दिखाई दिया। यहां लोगों ने महिलाओं-बच्चियों का हवाला देते हुए पोस्टर-बैनर के माध्यम से बीजेपी कार्यकर्ताओं को मोहल्ले में आने से मना किया है।प्रयागनगरी के शिवकुटी मोहल्ले के लोगों ने अपने घरों के सामने पोस्टर लगाए हैं, जिनमें लिखा है कि बीजेपी के कार्यकर्ताओं और नेताओं का प्रवेश वर्जित है, क्योंकि यहां महिलाएं और बच्चियां रहती हैं।

मोहल्ले के लोगों की माने तो देश में जिस तरह बलात्कार की घटनाओं में बीजेपी नेताओं का नाम आ रहा है, इससे लोगों के मन में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर डर है। इसलिए ऐसे पोस्टर और बैनर लगाये गए है। वहीं बीजेपी इसे राजनैतिक नजरिये से देख रही है और विरोधियों की साजिश बता रही है। भाजपा नेताओं का कहना है कि ये बैनर मोहल्ले के लोग नहीं विपक्षियों ने लगवाया है। सोशल मीडिया पर एंटी भाजपा के नेता इस बैनर को जमकर शेयर कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY