रोहिंग्या मुस्लिमों का समर्थन करने वाले भी देश से भगाये जाएँ

Delhi: People protest outside Myanmar Embassy over the issue of Rohingya refugees

नई दिल्ली: देश के गरीब मजदूर जिनके पास रहने के लिए आशियाना नहीं है वो कहीं जगह पाते हैं तो झुग्गी बनाकर रहने लगते हैं लेकिन कुछ साल वहाँ रहते हो जाता है तो उन्हें जल्द वहाँ से हटाना बड़ा मुश्किल हो जाता है।  कई बार तो ऐसे लोगों को हटाने में कई बड़ी घटनाएं हो चुकी हैं, कई लोगों की जानें जा चुकी हैं। हाल में बिहार में भी ऐसा ही हुआ था जहां अवैध कब्जे हटाने गई पुलिस पर जमकर पथराव हुआ, गाड़ियां जलाई गईं जिसके बाद पुलिस को मजबूरन गोली चलाना पड़ा। ऐसे लोगों को उस समय ही हटा देना चाहिए जब ये कहीं सरकारी जगह पर अपना आशियाना बनाते हैं ताकि आगे ऐसे मौके ही न आएं। ठीक इसी तरह लगभग 40 000 रोहिंग्या मुसलमान देश में आ चुके हैं, जगह जगह वो अपने डेरे बना रहे हैं। सरकार इन्हे भारत से भेजने की तैयारी में है ताकि आगे चलकर ये कोई बवाल न खड़ा करें लेकिन देश के कुछ घटिया लोग रोहिंग्या मुसलामानों पर राजनीति कर रहे हैं। उन्हें वापस भेजने के मुद्दे पर सरकार पर सवाल खड़े कर रहे हैं। ऐसे लोगों को देश नहीं राजनीति प्यारी है। आज रोहिंग्या चालीस हजार हैं अगर ऐसा ही रहा तो इनकी संख्या बहुत बढ़ जाएगी फिर इन्हे हटाना नामुमकिन होगा।

केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने आज कहा कि एक साजिश के तहत रोहिंग्या मुद्दे पर जानबूझकर भारत की छवि धूमिल करने की कोशिश की जा रही है। सरकार की अवैध ढंग से देश में रह रहे रोहिंग्या समुदाय के लोगों को वापस उनके देश म्यांमार भेजने की घोषणा के बाद से ही यह मुद्दा गर्माया हुआ है तथा समुदाय के लोगों ने इसके खिलाफ उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। रिजिजू ने ट्वीट किया कि रोहिंग्या मुद्दे पर समवेत स्वर में भारत को खलनायक की तरह पेश करना देश की छवि धूमिल करने की साजिश है। यह भारत की सुरक्षा को कमजोर करता है। वहीं कुछ लोगों ने आज रोहिंग्या के समर्थन में दिल्ली में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन करने वाले सोशल मीडिया के निशाने पर हैं। एक दो कमेंट्स पढ़कर समझ जाएँ।

1. इन कु** और पिल्लो को  भी मार मार कर उन्ही के पास भेजना चाहिए

2. आतंक का धर्म है और सारे आतंकी आ गये समर्थन में 😡😡

इन सु** का भी पिछवाड़ा तोड़ डालो

3.After these types of protest our govt should strongly take against #Rohingyas deport them all to their own land.

4.Inko yaha aakr protest karne ka adhikar kisne diya,  kon he jo inko yaha basane me madad kar raha he,  desh ki surksha khtre m daal kr?

loading...

Leave a Reply

*