खट्टर की कमजोरी का फायदा उठाएंगे केजरीवाल, हरियाणा के स्कूलों, अस्पतालों का करेंगे दौरा

0
214

चंडीगढ़: हरियाणा के अगले विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी प्रदेश में अपनी जड़ें मजबूत करने का युद्ध स्तर पर प्रयास करने जा रही है। केजरीवाल खट्टर सरकार की कमजोर नस दबाने जा रहे हैं जिस कारण केजरीवाल को फायदा मिले या न मिले खट्टर सरकार का नुकसान संभव है। हरियाणा में शिक्षा माफियाओं की लूट किसी से छिपी नहीं है। हर परिवार के लोग इस लूट का शिकार हो रहे हैं लेकिन खट्टर सरकार ने इस मुद्दे पर अब तक कुछ नहीं किया है। इसी तरह प्रदेश की जनता निजी अस्पतालों में भी जमकर लुट रही है।

दिल्ली के मुख्य्मंत्री अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली में काफी हद तक इस लूट खसोट पर लगाम लगा दी है और अब केजरीवाल का निशाना हरियाणा है। दिल्ली में आप की सरकार द्वारा सरकारी अस्पतालों और सरकारी स्कूलों की हालत काफी हद तक सुधार दी गई है लेकिन खट्टर सरकार ऐसा नहीं कर सकी है। खट्टर के शिक्षा मंत्री और स्वाथ्य मंत्री लाख बयान दें लेकिन असलियत कुछ और है। रामबिलास शर्मा और अनिल विज सिर्फ जुबानी तीर चलाने में माहिर हैं।

अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अपने सहयोगी मंत्रियों के साथ हरियाणा के सरकारी स्कूलों व सरकारी अस्पतालों का दौरा करके सरकार के खिलाफ एक रिपोर्ट तैयार करेंगे। जिसकी तुलना दिल्ली से करते हुए प्रदेश सरकार के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा।
अरविंद केजरीवाल इसी को बड़ा मुद्दा बनाकर हरियाणा में उतर रहे हैं। केजरीवाल का यह दौरा 22 अक्तूबर से शुरू हो रहा है। उनके साथ दिल्ली के उपमुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया व दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भी हरियाणा का दौरा करेंगे। इस दौरे के वक्त केजरीवाल कृषि मंत्री ओपी धनखड़, विधानसभा में कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी व सांसद दुष्यंत चौटाला के इलाकों से होते हुए सभी दलों को घेरने का प्रयास करेंगे।

LEAVE A REPLY