कहीं न कहीं गलत हैं कुछ अधिकारी इसलिए अधिकारियों की पिटाई से खुश होती है जनता

0
254
Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal IT 30 Crore

नई दिल्ली: दिल्ली में जो कुछ हुआ वो नहीं होना चाहिए था और ऐसे मामलों के कारण दिल्ली के सीएम की तारीफ हो रही है। अब आप ये कहेंगे कि ये क्या लिखा जा रहा है कि तारीफ़ हो रही है तो आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर थप्पड़ काण्ड के बाद केजरीवाल की आलोचना भाजपा और अन्य पार्टियों के लोग कर रहे हैं जबकि तारीफ़ ज्यादा हो रही है जिसे देख लगता है कि देश के लोग कुछ अधिकारियों से परेशान हैं और अधिकारियों की पिटाई चाहते हैं। कल से अनेक ख़बरें पोस्ट कर चुका हूँ और ख़बरों पर अधिकतर लोगों का कहना है कि अधिकारी इसी लायक हैं लेकिन जो हुआ गलत हुआ, जनता तो जनता है और भावात्मक हो जाती है।

वहीं इस थप्पड़ कांड मामले में अरविंद केजरीवाल बैकफूट पर आ गए हैं। आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उपराज्यपाल अनिल बैजल से मिले। जिसके बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बयान दिया है कि अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल को आश्वासन दिया है कि भविष्य में ऐसी अब कोई घटनाएं नहीं होंगी। दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट के बाद दिल्ली की राजनीति में भूचाल आया हुआ है। अधिकारियों ने दिल्ली सरकार से बात करने से इनकार कर दिया है। अधिकारी सरकार की किसी भी बैठक में शामिल नहीं हो रहे हैं। दिल्ली में पैदा हुई इस स्थिति पर कामकाज लंबित हो रहा है। इस मुद्दे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उप राज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की।

मुलाकात के बाद उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पत्रकारों को बताया कि उप राज्यपाल से मुलाकात कर उन्होंने दिल्ली की स्थिति से अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने उप राज्यपाल को अवगत कराया कि अधिकारी पिछले 2-3 दिनों से ना तो दफ्तर आ रहे हैं और ना ही किसी मंत्री के फोन उठा रहे हैं। अधिकारियों के ना आने से कई महत्वपूर्ण बैठकें रद्द करनी पड़ीं। कुल मिलकर दिल्ली में जो हुआ गलत हुआ और केजरीवाल के विधायक टपोरी जैसे हरकतें न करें लेकिन देश के अधिकारी भी समझ लें की आपके पिटने जनता खुश भी होती है? कहीं न कहीं कुछ अधिकारी गलत हैं शायद इसलिए।

LEAVE A REPLY