सफाई कर्मियों की मांगे न मानी सरकार को संसद में उठाऊंगा ये मुद्दा: दीपेन्द्र सिंह हुड्डा

0
234

अनूप कुमार सैनी: रोहतक, 20 मई। सांसद दीपेन्द्र सिंह हुड्डा ने रोहतक में धरने पर बैठे सफाई कर्मचारियों की मांगों को जायज बताते हुए पूर्ण समर्थन देते हुए कहा कि अगर यह सरकार उनकी मांगें नहीं मानती है तो आने वाले संसद के मानसून सत्र में उनकी मांगों को कांग्रेस पार्टी की तरफ से पुरजोर तरीके से उठाया जाएगा।
सांसद ने धरना स्थल में मौजूद सफाई कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में ये वादे किये थे और अब तक अपने वादों को पूरा कर देना चाहिए था मगर चार साल बाद भी वादों को पूरा नहीं करना साफ़ तौर पर भाजपा की नियत और संवेदनहीनता को दर्शाता है।
उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान को लेकर लोकसभा में उनके प्रश्न के उत्तर में सरकार ने खुद बताया कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत कुल बीस हजार करोड़ का धन आवंटन हुआ है मगर इसमें से सफाई कर्मचारियों के लिए एक नये पैसे का इस्तेमाल सफाई कर्मचारियों के लिए नहीं किया गया है।
यहाँ तक कि विगत 8 फरवरी को केंद्र सरकार की तरफ से सभी राज्य सरकारों को एक पत्र लिख कर कहा गया है कि स्वच्छ भारत के अंतर्गत आने वाले काम को निजी क्षेत्र में आउटसोर्स किया जाये। यह भाजपा सरकार की सोच को दिखाते हैं। चौ भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने अपने कार्यकाल में ठेकेदारी प्रथा ख़त्म कर १२ हजार सफाई कर्मचारियों को रोल पर लिया गया और ग्रामीण क्षेत्र में 11 हजार सफाई कर्मचारियों की नियुक्ति की गई थी।
उनका कहना था कि हुड्डा सरकार के कार्यकाल में गरीब परिवारों को 100- 100 गज में प्लाट लगभग 4 लाख परिवारों को मुफ्त दिए थे मगर भाजपा सरकार ने अपने अभी तक के कार्यकाल में इस योजना के तहत एक भी प्लाट नहीं दिया है। 100 गज के प्लाट की बात तो दूर एक भी परिवार को 10 गज का प्लाट देने में नाकाम रही है भाजपा सरकार। सांसद ने कहा कि आने वाले समय में अगर आपके आशीर्वाद से मौका मिलेगा तो इस योजना को आगे बढ़ाते हुए बाकी के 4.5 लाख परिवारों को मुफ्त प्लाट देने का काम करेंगे।
दीपेन्द्र ने कहा कि देश में आर्थिक खुशहाली तभी आ सकती है, जब देश का किसान, मजदूर और गरीब खुशहाल होगा। सांसद ने धरने में मौजूद फायर ब्रिगेड कर्मियों की मांगों का भी समर्थन किया

LEAVE A REPLY