“विकास और जनहित के अजेंडे में भाजपा पूरी तरह फेल”-दीपेन्द्र हुड्डा

0
79

रोहतक 8 नवम्बर। आज रोहतक में अनेक कार्यक्रमों में शिरकत करने पहुंचे सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि जनता भाजपा की जनविरोधी नीतियों से काफी परेशान है क्योंकि भाजपा ने लोगों को लालच देकर और अच्छे दिन के वायदे देकर सत्ता प्राप्त करने का काम किया था मगर जब भाजपा सत्ता में आई तो लोगों के लिए अच्छे दिन तो नहीं लाई मगर बूरे दिन जरूर लाकर खड़े कर दिए।
सांसद ने कहा कि भाजपा सरकार ने चुनाव से पूर्व जो भी वायदे किए थे, उन सभी वायदों से पलटने का काम खट्टर सरकार ने किया है चाहे वो बेरोजगार युवकों बेरोजगारी भत्ते की बात हो, चाहे किसानों के लिए स्वामीनाथन आयोग की बात हो, कर्मचारियों को पक्का करने की बात हो, पंजाब के समान वेतनमान देने की बात हो, इन सभी वायदों को भाजपा ने पूरा करने की घोषणा की थी मगर सरकार आते ही कहने लगे कि हम इन वायदों को किसी भी कीमत पर पूरा नहीं कर सकते।
सांसद ने कहा कि हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा की बहुचर्चित जनक्रांति यात्रा का 7वां पड़ाव 25 नवम्बर को हिसार के बरवाला में होगा। उन्होंने कहा कि जनक्रांति रथ यात्रा में उमड़ रही लाखों लोगों की भीड़ से यह साबित हो गया है कि आने वाला समय भूपेन्द्र सिंह हुड्डा का है।

उनका कहना था कि जनता ने अब मन बना लिया है कि भूपेन्द्र हुड्डा को मुख्यमंत्री बना कर ही दम लेंगे। झूठे वायदे करके देश और प्रदेश में भाजपा ने सत्ता हासिल की और चार साल बीत जाने के बाद आज तक एक भी वायदा पूरा नहीं किया बल्कि उनके जन विरोधी फैसलों के कारण हर वर्ग में त्राहि-त्राहि मची है, जिससे समाज का हर वर्ग दुखी है और प्रदेश में भूपेन्द्र हुड्डा ही एक ऐसे जन-नायक नेता हैं, जो इस अन्यायपूर्ण सरकार से लोगों को निजात दिला सकते हैं।
दीपेन्द्र ने भाजपा सरकार पर करारा हमला करते हुए कहा कि यह सरकार विकास और जनहित के एजेंडे में पूरी तरह फेल साबित हुई है और इस सरकार को लोगों के दुःख और तकलीफ से कोई सरोकार नहीं है। समाज के हर वर्ग में मायूसी का माहौल है और लोग खासकर महिलायें अपराध और अपराधियों के डर के साए में रहने को मजबूर हैं।

उन्होंने कहा कि 2004 से लेकर 2014 तक कांग्रेस की सरकार रही और भूपेन्द्र हुड्डा के कुशल नेतृत्व के फलस्वरूप हरियाणा देश के विकसित राज्यों की श्रेणी में सबसे आगे रहा। चाहे वो प्रति व्यक्ति आय की बात हो, प्रति व्यक्ति निवेश की बात हो, कृषि उत्पादकता या खेलों में प्रदेश व देश का नाम रोशन करने की बात हो, हर मामले में प्रदेश 36 बिरादरी के भाईचारे की नींव पर विकास के नए-नए कीर्तिमान स्थापित करता रहा। मगर अब हरियाणा का दुर्भाग्य ही कहा जाएगा कि ऐसी सरकार मिली है, जिसने विकास और जनहित तो दूर प्रदेश को हिंसा की आग में झोंकने का नया कीर्तिमान स्थापित किया है। यह सरकार तीन साल में तीसरी बार शान्ति एवं अमन-चैन बनाए रखने में बुरी तरह से नाकाम साबित हुई है।
उन्होंने भाजपा पर युवाओं को झूठे वादे कर ठगने का आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव से पहले भाजपा ने युवाओं को हर वर्ष 2 करोड़ नौकरियां देने और नौकरी न मिल पाने की सूरत में 9000 रुपए महीना बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था मगर अब चार साल बीत चुके हैं। हर वर्ष दो करोड़ नए रोजगार मिलना तो दूर लोगों को अपनी नौकरी बचाना मुश्किल पड़ रहा है।
कांग्रेसी सांसद पारदर्शिता का ढोंग करने वाली इस सरकार में पर्दे के पीछे भ्रष्टाचार का आलम यह है कि नौकरी देने के नाम पर खुलेआम घूसखोरी चल रही है और रेट लिस्ट लगा कर नौकरियां बेहिचक बेंची जा रही है। भाजपा ने युवाओं के साथ धोखा किया है और हमारे मेहनतकश युवाओं के भविष्य के साथ खेलवाड़ कर रही है।
इस मौके पर उनके साथ पूर्व विधायक भारत भूषण बत्रा, बलराम रंगा, सरपंच कृष्ण छाबड़ा, सरपंच सुनीत मकरोड़ी, सरपंच राकेश किलोई, सरपंच दिनेश मायना, सरपंच अमित काहनोर, सरपंच परमजीत, सरपंच सोनू समेत लगभग 4 दर्जन सरपंच मौजूद थे।

LEAVE A REPLY