भीमा कोरेगांव हिंसा: सुधा भारद्वाज की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने उठाया सवाल, जाने क्या हैं उनपर आरोप

0
624

नई दिल्ली/ फरीदाबाद: भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में गिरफ्तार हुई फरीदाबाद में रहने वाली सुधा भारद्वाज की ट्रांजिट रिमांड पर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट की तरफ से तीन दिनों का स्टे लगाने के बावजूद फरीदाबाद के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने उन्हें पेश किया गया। हाईकोर्ट ने सुधा भारद्वाज की ट्रांजिट रिमांड पर तीन दिनों का स्टे लगा दिया था और बदरपुर स्थित उनके घर पर उन्हें हाउस अरेस्ट रखने के ऑर्डर दिए थे। उधर पुणे पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर शिवाजी बोडखे ने कहा कि जब तक हाई कोर्ट के ऑर्डर पुलिस तक नहीं पहंचते, सुधा भारद्वाज पुलिस कस्टडी में ही रहेंगी।

हरियाणा अब तक को अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, सुधा भारद्वाज पर धारा 153 ए (धर्म, जाति, जन्मस्थान, निवास, भाषा इत्यादि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना), 505 (सार्वजनिक शरारत के लिए प्रतिबद्ध वक्तव्य), 117 (दस या उससे ज्यादा लोगों को किसी आपराधिक गतिविधि के लिए उकसाना) और 120 के तहत आरोप लगाया गया है।

सुधा भारद्वाज के बारे में अब तक जो जानकारी मिल सकी है उसके मुताबिक़ वो छत्तीसगढ़ में अपने काम के लिए जानी-पहचानी जाती हैं। वह 29 साल तक वहां रही हैं और दिवंगत शंकर गुहा नियोगी के छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा की सदस्य के तौर पर भिलाई में खनन श्रमिकों के अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ चुकी हैं.

उनकी गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने भी सवाल उठाये हैं। कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह ने कुछ ट्वीट किये हैं जिसमे उन्होंने लिखा है कि सुधा भारद्वाज जैंसी समाज सेविका के साथ जो महाराष्ट्र पुलिस झूँठे प्रकरण बना रही है उसकी मैं घोर निंदा करता हूँ। भाजपा और मोदी अमित शाह की जोड़ी का असली चेहरा अब सामने आने लगा है। दिग्विजय सिंह ने एक अन्य ट्वीट में लिखा है कि सुधा भारद्वाज के प्रारंभिक शिक्षा अमेरिका और इंगलेंड में हुई। इनकी मॉं JNU में Economics की Head of Department रहीं। यहीं पर लोग दिग्विजय सिंह पर तंज भी कसते दिख रहे है क्यू कि उनके ट्वीट में जेएनयू आ गया है।
इस मामले को लेकर अभी अभी सीपी एनआईटी फरीदाबाद का बयान आया है जिसमे उन्होंने कहा है कि सुधा भारद्वाज को उच्च न्यायालय में पेश किया जाएगा। तब तक वह हमारी निगरानी में है। उन्हें मीडिया से बात करने से रोक दिया गया है । लेकिन वह अपने वकील से मिल सकती है।

LEAVE A REPLY