अवैध धन उगाही के ठेकेदार हैं बीजीपी प्रभारी अनिल जैन, गिरफ्तार करें फरीदाबाद पुलिस: दलाल

0
460

फरीदाबाद, 18 अक्टूबर। हरियाणा के वरिष्ठ कांग्रेसी विधायक एवं पूर्व केबिनेट मंत्री करण सिंह दलाल ने भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं हरियाणा प्रभारी डॉ. अनिल जैन पर बडा वार करते हुए उसे भाजपा का फाईनेंस सचिव बताया है। उन्होंने कहा कि जैन पर ही अवैध धन उगाही का ठेका है। जैन की ही सरपरस्ती में फरीदाबाद-पलवल सहित समूचे हरियाणा में अवैध कार्यो में लिप्त लोगों की पौ बारह हो रही है। हाल ही में बल्लभगढ़ में अनिज जैन व उसके कथित भांजे द्वारा एक व्यापारी का उत्पीडन करने के कारण व्यापारी द्वारा आत्महत्या किया जाना इस बात का प्रमाण है। उन्होंने सरकार पर सवाल खडा करते हुए कहा कि उक्त मामले में मुकदमा दर्ज होने के बाद अब फरीदाबाद के पुलिस कमिश्रर व सरकार का इंतिहान है कि क्या वह अनिल जैन को गिरफ्तार करेंगे। विधायक दलाल शनिवार को फरीदाबाद के सैक्अर-16 स्थित सर्किट हाउस में आयोजित पत्रकार सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उनके साथ पूर्व पार्षद बलराम गुप्ता भी मौजूद थे।
विधायक दलाल ने कहा कि बल्लभगढ के एक व्यापारी अनिल कुमार को हरियाणा के भाजपा प्रभारी के कथित भांजों द्वारा उनके नाम की धमकी देकर तंग करना शुरू कर दिया था, जिससे परेशान होकर उक्त व्यापारी ने आत्महत्या करली थी। इससे पता चलता है कि पूरे हरियाणा में भाजपा के मंत्री व नेताओं के रिश्तेदार व चहेते किस कद्र लोगों को उनके नाम पर परेशान कर रहें है। उन्होंने उक्त मामले में हरियाणा के प्रभारी की सग्ंलिप्तता की और इस मामले के अलावा और भी कितने मामले हैं जिनमें हरियाणा के मंत्री व नेताओं का नाम लेकर लोगों को तंग किया जा रहा है?, ऐसे सभी मामलों की जांच की मांग की।
विधायक दलाल ने स्मार्ट सिटी का मुद्दा उठाते हुए कहा कि फरीदाबाद को स्मार्ट सिटी बनाने की तैयारी में जुटी भाजपा सरकार ने पूरे शहर को स्लम सिटी के रूप में तब्दील कर दिया है, राज्य की सबसे पुरानी औद्योगिक नगरी फीदाबाद को भाजपा सरकार स्मार्ट सिटी का ताज पहनाने का सिर्फ नाटक कर रही है, जबकि पूरा फरीदाबाद मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहा है। स्मार्ट सिटी बनाने के नाम का आया हुआ पैसा कहां है? क्योंकि फरीदाबाद की अधिकतर सडकें जर्जर व उबड-खाबड हैं व थोडी सी बारीश होते ही पूरे फरीदाबाद की सडकों पर पानी भरजाना व गंदगी के ढेर लगे रहना आम बात है। राज्य की जीडीपी में 14 फीसदी की हिस्सेदारी निभाने वाले फरीदाबाद के 20 हजार से ज्यादा उद्यमियों ने उक्त हालातों के चलते अपने कारोबार से हाथ खींच लिए हैं और सरकार की गलत नीतियों के चलते व्यापारी कारोबार से अपना हाथ खींच रहे हैं। उन्होंने कहा कि 3 लाख से ज्यादा श्रमिकों वाले शहर में सालाना 3 हजार करोड रूपये का निर्यात होता है। लेकिन भाजपा सरकार आने के बाद इस सरकार ने इसके विकास पर कोई ध्यान नहीं दिया जिससे सबसे पुरानी औद्योगिक नगरी फरीदाबाद के उल्टे दिन शुरू हो गए है।

उन्होंने कहा कि फरीदाबाद की जर्जर सडकें, बिजली-पानी, साफ-सफाई, सीवरेज लाईन, जल-भराव जैसी मूलभूत सुविधाओं पर भी सरकार का कोई ध्यान नहीं है और आए दिन लगने वाले जाम से भी फरीदाबाद की हालत लगातार बिगडती जा रही है। जिस रफ्तार से ट्रैफिक बढ़ा है, उसके मुकाबले सरकार ने नई सडक़ों का विस्तार भी नहीं किया। रही सही कसर खराब सडकों ने पूरी कर दी है। रोज लगने वाले जाम और मूलभत समस्याओं और सरकार द्वारा रोज-रोज परेशान किए जाने की वजह से निवेश कभी फरीदाबाद से अपने कदम पीछे खींच रहे हैं। ट्रैफिक के लिहाज से जरूरी माने जाने वाला ईईई का फार्मूला यहां दिखाई नहीं देता। रोड-इंजीनियरिंग के अभाव के अलावा ट्रैफिक को लेकर शिक्षा और इंफेर्स में टमें भी फरीदाबाद पिछडा हुआ है।

उन्होंने कहा कि यह सरकार किसान विरोधी सरकार है और सिर्फ किसानों के खिलाफ ही कार्यवाही करना जानती है।
विधायक दलाल ने ने भाजपा सरकार पर गरीब विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि विधानसभा में उनके द्वारा सरकार द्वारा 26 लाख गरीब लाभार्थियों के राशन कार्ड काटे जाने के मामले को उठाए जाने पर भाजपा सरकार ने आजतक कोई कार्यवाही न करके उल्टा अपनी बी टीम इनेलो के साथ मिलकर मुझे विधानसभा से निष्काषित करने का षडयंत्र भी रच दिया।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के नेता व मंत्री दिन-प्रतिदिन किसी न किसी घोटाले में सम्मलित रहते है। यमुनारेती की अवैध खनन की नकली रसीद छपवाकर अवैध उगाही करने वालोंके खिलाफ सबूतदेने के बाद भी आजतक कोई कार्यवाही नहीं हुई है।

LEAVE A REPLY