खून से खत लिख रंगदारी मांगने वाले बड़े डॉन अजय गुर्जर को CIA पलवल टीम भड़ाना ने दबोचा

0
756

चंडीगढ़/ पलवल:- 10 साल से पुलिस की आंखों में धूल झोंक ने वाला 50 हजार का इनामी डॉन आखिर पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने मंगलवार को तीन बार रेड़ करके उसे उसके पैत्रिक गांव तूमसरा से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बुधवार को अदालत में पेश कर तीन दिनों के पुलिस रिमांड पर लिया है। मुम्बई व नेपाल में भी था डॉन का ठिकाना और ये खून से चेतवानी भरा पत्र लिखकर रंगदारी मांगता था। पास्पोर्ट ना बनने के कारण ये दूसरे देश नहीं जा सका ।
फेसबुक पर अचीवमेंट डालकर युवाओं को गैंग में जोड़ता था पलवल का डॉन ! गुरुनानक अस्पताल के संचालक डा. अनूप सिंह अरोड़ा से करीब तीन माह पूर्व एक करोड़ रुपये की रंगदारी की मांग के बाद से ही पुलिस ने अजय गुर्जर को गिरफ्तार करने को चुनौती के रुप में लिया था। आरोपी अजय गुर्जर के खिलाफ पुलिस गुपचुप तरीके से नजर रखे थी । पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम खुद इसकी मॉनिटरिंग कर रहे थे। अजय गुर्जर पर हरियाणा,उत्तरप्रदेश,राजस्थान,दिल्ली सहित अन्य राज्यों में रंगदारी मांगने, हवाई फायर करने तथा हत्या का प्रयास सहित दर्जन भर मामले दर्ज हैं। पुलिस ने अजय गुर्जर से पूछताछ की और उसके बताए गए ठिकानों पर छापेमारी की। पुलिस ने अजय गुर्जर के बताए गए ठिकानों से 8 हथियार बरामद किए जिनमें देशी कारबाइन, देशी कट्टो,एक बंदूक शामिल है। अजय गुर्जर के खिलाफ पलवल जिले में ही विभिन्न धाराओं के तहत 17 मामले दर्ज है।

आखिर पलवल पुलिस ने उस डॉन को मंगलवार को उसके गांव से गिरफ्तार कर लिया जो पुलिस के लिए बहुत बडा सिरदर्द बना हुआ था। अजय गूजर जिसने दस सालों से पलवल इलाके में व्यापारियों, डाक्टरों व नेताओं में जान से मारने की धमकी देकर फिरोती मांगने का भय बनाया हुआ था। यह राष्ट्रिय राजमार्ग से सटे एक छोटे से गांव तूमसरा का रहने वाला है जिसकी पुलिस को काफी दिनों से तलाश थी। 2015 में पुलिस ने इस पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। यह लोगों को फोन पर जान से मारने की धमकी देकर रंगदारी मांगता था। पुलिस के अनुसार अजय गूजर को कई राज्यों की पुलिस को तलाश थी, आरोपी जयादातर मुम्बई व नेपाल में रहता था और यहीं से अपनी गैंग भी चलाता था।


क्राइम ब्रांच पलवल के निरीक्षण इंस्पेक्टर सुरेश भड़ाना के मुताबिक़ डॉन जूडो काराटे का खिलाड़ी भी रह चुका है, उन्होंने चौंकाने वाली बात बताते हुए कहा कि यह इतना सातिर है कि अपनी गैंग बनाने के लिए फेसबुक पर अपनी जूडो काराटे वाली फोटो डालता रहता है ताकि जयादा से जयादा युवा उसे पसंद करें और उससे जुडें। नामी बदमाश अजय गुर्जर के खिलाफ पलवल सहित फरीदाबाद, यूपी व दिल्ली में भी रंगदारी मांगने, हवाई फायर करने, हत्या के प्रयास सहित दर्जन भर मामले दर्ज हैं। आरोपी के खिलाफ हरियाणा पुलिस ने पहले 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था, जिसे बढ़ाकर 50 हजार रुपये कर दिया गया था। पुलिस हर बार मामला दर्ज होने पर आरोपी को काबू करने की लिए दबिश देती थी, लेकिन वह पुलिस को हर बार पुलिस को चकमा दे जाता था। पुलिस के पास उसकी पहचान के लिए फोटो भी नहीं था, जिसके चलते एक बार तो वह पुलिस के सामने से ही निकल गया। अजय गुर्जर ने आठ जुलाई 2018 को मिठाई के डिब्बे में धमकी भरा पत्र भेजकर एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी थी। गुरु नानक अस्पताल के संचालक डा. अनूप सिंह को रंगदारी के लिए भेजे गए पत्र के साथ मैगजीन भी भेजी गई थी।

अजय गुर्जर ने डाक्टर को भेजे गए पत्र में गैंगस्टार की भाषा का इस्तेमाल किया था। आठ जुलाई की सुबह एक व्यक्ति डा. अनूप सिंह की गैर मौजूदगी में मिठाई का डिब्बानुमा धमकी भरा पत्र दे गया था। जिला पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने बताया कि अजय गुर्जर अपने घर गांव तुमसरा में भगवान सत्यनारायण की कथा व हवन में हिस्सा लेने आया था। इस बारे में पुलिस को अपने मुखबिरों से सूचना मिल गई थी। पुलिस ने मंगलवार की सुबह करीब 7.30 बजे गांव तुमसरा में अजय गुर्जर के फार्म हाऊस पर छापेमारी कर उसे काबू कर लिया। उसकी स्विफ्ट कार को भी पुलिस ने कब्जे में ले लिया था। अजय गुर्जर ने खुद को काबू होते देख अपने चिरपरिचित अंदाज में अजय की बुआ का लड़का बताया। आरोपी को बाद में शिनाख्त के लिए उसके घर ले जाया गया, जहां उसकी पहचान अजय गुर्जर के रुप में कर ली गई। अजय गुर्जर व उसके गुर्गों ने अलग-अलग समय पर गुरुनानक अस्पताल के संचालक डा. अनूप सिंह अरोड़ा, पलवल नगर परिषद के पूर्व पार्षद चंदीराम गुप्ता, होडल के भाजपा नेता राधेश्याम कालड़ा, पलवल के व्यवसायी अनिल सिंगला से करोड़ों रुपये की रंगदारी की मांग की थी। सभी लोगों को रंगदारी में मिलने की सूरत में जान से मारने की धमकी भी दी गई थी, जिस पर सभी को पुलिस सुरक्षा उपलब्ध कराई गई थी। अब अजय गुर्जर की गिरफ्तारी के बाद सभी लोगों से चैन की सास ली है । सीआइए पलवल इंस्पेक्टर सुरेश भड़ाना की टीम व कैंप थाना प्रभारी की टीम के सदस्यों ने आरोपी अजय गुर्जर को काबू किया है। पूछताछ में पता चला कि अजय गुर्जर के हरियाणा, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, दिल्ली सहित अन्य राज्यों के बदमाशों के साथ संबंध है और हत्या जैसे अपराधों में अजय गुर्जर का सीधा संबंध है। पुलिस गंभीरता की मामले की जांच कर रही है और अन्य प्रदेशों की पुलिस से सम्पर्क कर अजय गुर्जर का आपराधिक रिकॉर्ड मांगा जा रहा है।

LEAVE A REPLY