मुहर्रम पर सड़क पर खून न बहा इन मुस्लिम युवकों ने किया रक्दान, हो रही है तारीफ़

0
313

नई दिल्ली: देश भर में कल मुहर्रम मनाया गया। इस मौके पर विभिन्न इमामबाड़े से अखाड़े और ताजिया निकाले गए। कई राज्यों में हसन-हुसैन की गूंज और खून से लथपथ बदन लिए लोगों ने ताजिया के अखाड़े में शिरकत की। बड़ी संख्या में बड़े-बच्चे बुजुर्ग-युवा सभी अखाड़े के जुलूस के साथ शरीक होकर हसन-हुसैन के नारे लगाते रहे। जुलूस में लोगों ने तरह-तरह के करतब किए और जोर-जोर से छाती पीटकर हाय हुसैन-हाय कर्बला के नारे लगाते रहे। छाती पीट-पीटकर कुछ लोगों ने तो खुद को लहू-लुहान कर लिया जिनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वाइरल हो रहीं हैं।

सोशल मीडिया पर एक ऐसी ऐसी भी तस्वीर वाइरल हो रही है जिनमे तमाम मुस्लिम युवक रक्तदान करते दिख रहे हैं। ट्विटर पर जेबा फातिमा ने कई तस्वीरें पोस्ट की हैं और उन्होंने लिखा है कि #मोहर्रम में खूनी मातम मनाने हुए अपने शरीर को लहू-लुहान करने के बजाए लखनऊ में मुस्लिम युवकों ने रक्तदान करने का फैसला किया है। दरअसल कोई भी प्रथा जो सदियों से चली आ रही है जरूरी नहीं की वो सही ही हो। खून सड़क पर बहने से अच्छा है किसी जरूरतमंद की रगों में बहे

LEAVE A REPLY