भाजपा-इनेलो गठबंधन की शायद ही गले दाल, अभय चौटाला को भाव नहीं दे रही है भाजपा

0
273

चंडीगढ़: एक समय था जब हरियाणा में इनेलो की सरकार थी और भाजपा के पास गिनती के विधायक हुआ करते थे। इनेलो मजबूत थी, भाजपा कमजोर थी। जब विधानसभा चुनाव होते थे तो हरियाणा भाजपा इनेलो की चौखट पर गठबंधन के लिए गिड़गिड़ाती थी। इनेलो उस समय भाजपा को भाव नहीं देती थी। सीटों के लिए सौदेबाजी की जाती थी। वक्त हमेशा एक जैसा नहीं रहता ये तो हर कोई जानता है। अब भाजपा का वक्त है, इनेलो गठबंधन के लिए गिड़गिड़ा रही है। भाजपा भाव नहीं दे रही है। हरियाणा में इनेलो के कार्यकर्ता समझ नहीं पा रहे हैं कि वो करें। कई बड़े इनेलो नेताओं ने भाजपा का दामन थाम लिया है। भगदड़ रोकने के लिए अभय चौटाला भाजपा से गठबंधन के प्रयास में हैं लेकिन अब तक भाजपा ने उन्हें भाव नहीं दिया है।

अगर गठबंधन होता भी है तो सीटों को लेकर बात बनना बहुत मुश्किल है क्यू कि संभव है भाजपा इनेलो को बहुत कम सीटें देने पर राजी हो। भाजपा के हरियाणा मामलों के प्रभारी अनिल जैन ने स्पष्ट कर दिया था कि भाजपा और इनेलो का गठबंधन नहीं होगा। सूत्रों का कहना है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी हरियाणा में भाजपा और इनेलो के बीच गठबंधन की कोशिशें करके देख चुके हैं। बेशक, उनके प्रयास अभी रुके नहीं हैं, लेकिन भाजपा नेतृत्व अब गठबंधन के मूड में नहीं है। हालांकि, राजनीति संभावनाओं का खेल है और इसमें कुछ भी असंभव नहीं होता, लेकिन प्रदेश के मौजूदा राजनीतिक हालातों को देखते हुए इस बात की संभावना कम ही दिखती है।

LEAVE A REPLY