सरकार से घर बनाने के लिए पैसा लिया, घरवाली ढूंढने में खर्च कर दिया. अधिकारी हैरान

Bhopal MP News

नई दिल्ली: केंद्र सरकार की योजनाओं का कुछ लोग गलत रूप से फायदा उठाते हैं। सरकार गरीबों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों को घर बनाने के लिए पैसे देती है जिसे कुछ लोग गलत तरीके से खर्च कर रहे हैं। मध्य प्रदेश के शिवपुर जिले से एक अजब-गजब मामला आ रहा है। NBT की एक खबर के मुताबिक़ यहां के सहरिया जाति के एक शख्स ने प्रधानमंत्री आवास योजना से फंड लिया और घर बनाने की जगह घरवाली ढूंढने लगा।

रिपोर्ट के मुताबिक़ शंकर ने प्रधानमंत्री आवास योजना से घर बनाने के लिए फंड स्वीकृत कराया था। उसके अकाउंट में स्कीम की पहली किश्त बैंक ने भेज भी दी। पहली किश्त मिलते ही शंकर अचानक गायब हो गया। मामला अधिकारियों की नजर में तब आया जब अधिकारी स्वच्छ शौचालय और आवास योजना की समीक्षा बैठक कर रहे थे। खिरखिरी पंचायत के सचिव राजेंद्र गुर्जर शंकर से जाकर मिले।

उन्होंने शंकर से बात की तो उसने कहा कि उसे घर के लिए घरवाली की जरूरत है। घरवाली से ही उसका घर पूरा होगा। उसने पहली किश्त की रकम घरवाली ढूंढने पर खर्च कर दी है। यह सुनकर अधिकारी वहां से वापस आए। अधिकारी ने बताया कि वह शंकर के गांव जाकर उससे मिले। उसके जवाब ने उन्हें अचंभित कर दिया। उन्हें गुस्सा भी आ रहा था और हंसी भी आ रही थी। गुस्सा बहुत था लेकिन हंसी गुस्से पर हावी हो रही थी।

loading...

Leave a Reply

*