आधी रात को जेल से छूटा रावण, भाजपा पर बरसा

0
112

नई दिल्ली: भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण को कल रात्रि सहारनपुर की जेल से रिहा कर दिया गया है। उनको मई 2017 में सहारनपुर में जातीय दंगा फैलाने के आरोप में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासूका) के तहत जेल भेजा गया था। रावण को गुरुवार रात 2:30 बजे जेल से रिहा किया गया. इससे पहले बुधवार को योगी सरकार ने रावण को जेल से रिहा करने का आदेश दिया था।

रावण की रिहाई के दौरान भीम आर्मी के समर्थक काफी संख्या में जेल के बाहर जमा रहे. जेल के चारों तरफ कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई. पुलिस की जीप में रावण को जेल से बाहर निकाला गया. रावण को 16 महीने बाद जेल से रिहा किया गया है. कई राजनीतिक दल लगातार इनकी रिहाई की मांग कर रहे थे।

वहीं, सहारनपुर की जेल से रिहाई के तुरंत बाद चंद्रशेखर रावण ने सभा को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर जोरदार हमला बोला. रावण ने कहा कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव में BJP को हराना है. बीजेपी सत्ता में तो क्या विपक्ष में भी नहीं आ पाएगी. बीजेपी के गुंडों से लड़ना है। उन्होंने कहा कि सामाजिक हित में गठबंधन होना चाहिए।
वहीं सूत्रों के मानें तो रावण को रिहा कर भाजपा ने बड़ी चाल चली है और 2019 में दलितों का गुस्सा कम करने के लिए रावण की फ़टाफ़ट रिहाई हुई है। भाजपा ने एक तीर से कई शिकार का प्लान बनाया है। पूरे प्लान की जानकारी जल्द

LEAVE A REPLY