पंजाब एवं हरियाणा की बार एसोसिएशन्स के चुनाव 5 अप्रैल को

0
61

अनूप कुमार सैनी: रोहतक, 10 जनवरी। पंजाब, हरियाणा एव चंडीगढ़ की सभी बार एसोसिएशनस एव हाइकोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव 5 अप्रैल को होंगे। यह जानकारी देते हुए बार काऊंसिल ऑफ़ पंजाब एंड हरियाणा के चेयरमैन विजेंद्र सिंह अहलावत ने बताया की वन वोट वन बार के सिद्धान्त के तहत होंगे।

उन्होंने बताया कि इन्हीं नियमों के तहत हाईकोर्ट सहित दोनो प्रदेशो व केंद सासित प्रदेश चंडीगढ़ की सभी 152 बार एसोसिएशन के चुनाव नियमानुसार अप्रैल के फस्र्ट फ्राइडे यानी 5 अप्रैल को होंगे। इस सन्दर्भ में सभी बार एसोसिएशन के प्रधानों को चुनाव संपन्न करवाने के लिए आवश्यक कदम उठाने का अनुरोध करते हुए शैड्यूल सहित पत्र भेजा गया है।
अहलावत ने सभी बार एसोसिएशन को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि सभी बार मैंबर की सबस्क्रिप्शन फीस और अंडर टेकिंग लेने का काम 15 जनवरी तक पूरा कर लिया जाए। वोटिंग के लिए हर वकील को अंडरटेकिंग देना होगा कि वह किसी और बार एसोसिएशन से रजिस्टर नहीं है, यदि है तो वो दूसरी बार में वोट नहीं डालेगा।

उनका कहना था कि यह अंडरटेकिंग और सबस्क्रिप्शन फीस देने वाले वोटिंग के लिए योग्य होंगे और वोटरों की सूची बार एसोसिएशनों को 31 जनवरी तक नोटिस बोर्ड पर लगा कर बार काऊंसिल ऑफ पंजाब एंड हरियाणा को भी भेजनी होगी। इसके बाद बार एसोसिएशनों को अपनी बार के नियमानुसार रिटर्निंग ऑफिसर या इलेक्शन कमेटी को नामित करने का काम 28 फरवरी तक करना होगा।
अहलावत ने बताया कि हर वकील को यह भी अंडरटेकिंग देनी होगी कि वह किसी सेवा में नहीं है और न ही कोई बिजनेस चला रहा है। प्रधान पद के लिए एनरॉलमेंट के बाद 10 साल की एक्टिव प्रैक्टिस, उप प्रधान व सचिव पद के लिए एनरॉलमेंट के बाद 5 साल की एक्टिव प्रैक्टिस तथा अन्य पदों के लिए 3 साल की एक्टिव प्रैक्टिस अनिवार्य होगी।
चेयरमैन ने कहा कि विगत वर्ष पहली बार इन नियमों के तहत सभी बार ने एक तिथि को चुनाव करवा कर रिकॉर्ड बनाया था, जिसके लिए सभी वकील बधाई के पात्र हैं। उन्होंने इस बार भी चुनाव सुधार की दिशा मे उठाए गये कदम की सफलता के लिए बार के सभी सदस्यो से सहयोग की अपील की है। उन्होंने कहा कि एक दिन चुनाव होने से जहां डब्बल वोटिंग की समस्या खत्म होगी, वहीं पैसे की भी बचत होगी।

LEAVE A REPLY