आपस में भिड़े चौटाला के बच्चे, हरियाणा में चश्मे के उड़ने लगे परखच्चे

0
478

नई दिल्ली: लगभग एक महीने पहले हरियाणा के लोग कहते थे कि 2019 हरियाणा में इनेलो-बसपा की सरकार बन सकती है। लोग आंकड़ा लगा रहे थे कि बसपा के वोट हर जिले में हैं और कहीं पांच हजार तो कहीं 20 हजार तक हैं और बसपा के वोटबैंक के कारण इनेलो की नाव पार लग सकती है लेकिन हाल की घटनाओं के कारण इनेलो का कद धड़ाम से गिर गया है। वर्तमान समय में मुख्य विपक्षी पार्टी इनेलो तीसरे स्थान पर रहेगी ये कहा जा रहा है। चौटाला परिवार में जिस तरह का घरेलू कलेश चल रहा है उससे पार्टी के परखच्चे उड़ रहे हैं। कांग्रेस और भाजपा वाले जमकर हंस रहे हैं।

इनसो भांग होने के बाद कल शाम से अफवाह है कि इनेलो के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला ने अनुशासन तोड़ने के दोषी मानते हुए हिसार के सांसद दुष्यंत चौटाला को पार्टी से निलंबित कर दिया है। इस बात की पुष्टि अभी तक नहीं हुआ है। सूत्रों के हवाले से मीडिया में ये खबर छापी जा रही है और कहा जा रहा है कि सांसद दुष्यंत चौटाला को पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण को दुष्यंत को दिए गए सभी पदों से मुक्त कर दिया गया। कहा जा रहा है कि पार्टी ने सांसद दुष्यंत चौटाला को नोटिस दिया है जिसमे वह अपनी 7 दिन के अंदर सफाई पेश कर सकते हैं।

एक और जानकारी मिल रही है जिसमे कहा जा रहा है कि चौटाला ने अपने सांसद पोते दुष्यंत चौटाला को झटका देते हुए युवा इनेलो की कार्यकारिणी को भंग कर दिया है। युवा इनेलो की प्रदेश कार्यकारिणी के अलावा अधिकांश जिलों के पदाधिकारी भी दुष्यंत के करीबी थे। यही नहीं, दुष्यंत के संसदीय क्षेत्र यानी हिसार के जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी को भी हटा दिया है। अब हरियाणा की कमान सतवीर सियाय के पास रहेगी। इसी तरह की गाज़ दादरी जिलाध्यक्ष नरेश द्वारका पर भी पड़ी है। उनकी जगह विजय पंचगांवा को जिलाध्यक्ष बनाया है। चौटाला ने पूर्व विधायक निशान सिंह को भी किसान सैल संयोजक से मुक्त करते हुए उनकी जगह पूर्व विधायक कलीराम को जिम्मेदारी दी है। कर्मचारी सैल में बदलाव करते हुए पूर्व संयोजक धारा सिंह को अब सैल का प्रभारी नियुक्त किया है। उनके स्थान पर संयोजक का दायित्व बलवीर सिंह को दिया गया है। एक नए सैल का गठन करते हुए मेडिकल सैल का संयोजक डा. केसी काजल को बनाया गया है।
चौटाला परिवार की ये कलह अगर एक दो दिन में ख़त्म न हुई तो पार्टी पूरी तरह टूट जाएगी और इस पार्टी के प्रदेश के लाखों कार्यकर्ताओं को बहुत बड़ी निराशा से दो चार होना पड़ेगा। इस कलह पर सांसद दीपेंद्र हुड्डा का बयान आया है जिसमे उन्होंने कहा कि कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि इनेलो अपनी करतूतों के चलते 15 साल से सत्ता से बाहर है और 3 बार हारने का रिकार्ड बना चुकी है। उन्होंने कहा कि इनलो अब खत्म हो गई है।

LEAVE A REPLY