भारत के एम्बेस्डर पप्पी के घर पहुंचीं आर्ट फॉर पीस की संस्थापक, मक्के की रोटी खा भूलीं अमेरिका

0
379

फरीदाबाद: आर्ट फॉर पीस फाउंडेशन की संस्थापक अमेरिका निवासी डॉ. दामे मुनि आइरोनी ने आज भारत की जमकर तारीफ की। हरियाणा के फरीदाबाद जिले में रहने वाले युवा समाजसेवी और आर्ट फॉर पीस के भारत के एम्बेस्डर प्रेम कृष्ण आर्य उर्फ़ पप्पी के आवास पहुंचीं मुनि आइरोनी का पप्पी ने जोरदार स्वागत किया।

आर्ट फॉर पीस (बरवाली हिल्स कैलिफोर्निया) फाउंडेशन की संस्थापक मुनि आइरोनी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्होंने दुनिया के कई दर्जन देशों का दौरा किया लेकिन जिस तरह की मेहमाननवाजी भारत में देखने को मिली उस तरह कहीं नहीं देखा गया। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद में पप्पी ने उनका जिस तरह से स्वागत किया उसके लिए वो पप्पी का आभार जताती हैं और आगे वो जब कभी भारत आएंगी सबसे पहले फरीदाबाद आएंगी।

उन्होंने बताया कि भारत से उन्हें बचपन से ही लगाव है लेकिन उनकी संस्था पूरी दुनिया के लिए काम करती है इसलिए भारत का दौरा कम कर पाती हैं। इस मौके पर उन्होंने पप्पी की जमकर तारीफ की और कहा कि जब मैंने पहली बार पप्पी को देखा था तो उन्हें हँसते हुए देखा था और मुझे मुस्कुराता चेहरा बहुत पसंद है क्यू कि ऐसे लोग रोते हुए इंसान को भी हंसाने की क्षमता रखते हैं इसलिए मैंने पप्पी को भारत का एम्बेस्डर नियुक्त किया और आज उनके घर पहुँच मैंने देख लिया कि मैंने एक सही निर्णय लिया था।

आइरोनी ने कहा कि आने वाले समय में संस्था कई देशों की हस्तियों को आर्ट फॉर पीस ब्रेव हार्ट लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड सहित कई अन्य आवार्ड देगी और मैं प्रयास करूंगी कि पप्पी हर आवार्ड के समय हर देश में हमारे साथ रहें। मुनि आइरोनी ने कहा कि हमारी संस्था दुनिया भर में अच्छे काम करने वालों को कई तरह के आवार्ड प्रदान करती है। शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण जैसे मुद्दों पर अच्छे काम करने वालों को कई तरह के आवार्ड दिए जाते हैं।

मुनि आइरोनी ने बताया कि हमारे भारत के एम्बेस्डर पप्पी के घर किया हुआ लजीज भोजन का स्वाद मुझे ताउम्र याद रहेगा। उन्होंने कहा कि दुनिया के अनेक देशों में मैं जाती हूँ और मेरा वश चले तो मैं पप्पी के घर का भोजन हर रोज खाऊं और अपने घर अमेरिका कभी न जाऊं। उन्होंने कहा कि इंसान को समाजसेवा के लिए कुछ खोना पड़ता है इसलिए मेरी मजबूरी है कि मैं फरीदाबाद आकर पप्पी के घर का भोजन बार-बार चाहते हुए भी नहीं खा सकती हूँ। इस मौके पर पप्पी ने कहा कि जिस हस्ती को दुनिया देखने के लिए तरसती हैं वो अचानक मेरी कुटिया में पहुंचीं जिसके लिए मैं उनका आभार जताता हूँ और जल्दबाजी में मैं उन्हें सरसों का साग और मक्के की रोटी ही खिला सका और उन्हें मैंने एक चटनी परोसा जिसे वो दुनिया का लाजबाब व्यंजन बता रहीं हैं इसलिए लिए मैं उनका अपने फरीदाबाद ही नहीं अपने देश की तरह से दिल से शुक्रिया करता हूँ।

इस मौके पर प्रसिद्ध समाजसेवी गुरू जी पंडित श्री वैभव शर्मा जी, मरघट वाले बाबा प्राचिन हनुमान मंदिर, मिशन मोदी अगेन पीएम 2019 के राष्ट्रीय समन्वयक श्री संजय मौर्य जी व नासा में वैज्ञानिक सुश्री गिरिजा यदुवंशी और मुंबई से खास रूप से पधारे बॉलीवुड और हॉलीवुड के बड़े अभिनेता रेन मोर खास रूप से मौजूद थे। रेन मोर हॉलीवुड की कई सुपरहिट फिल्मों में अभिनय कर चुके हैं लेकिन फरीदाबाद को चुपचाप पहुंचे थे इसलिए चुपचाप आये और चले गए।

LEAVE A REPLY