हवाईजहाज की फर्जी टिकटें बेंच यात्रियों के करोड़ों लेकर फरार हुआ ये नटवरलाल

0
2116

फरीदाबाद: थाना कोतवाली एन.आई.टी. फरीदाबाद बाद में पिछले दिनों याचिका लेके पहुंचे प्लैनेट हॉलिडे ट्रैवेल एजेंसी के प्रोपराइटर सौरभ कुमार निवासी एन.आई.टी. फरीदाबाद जिन्होंने पिछले दिनों ट्रिप-ओ-ट्रैसर नाम की एक कंपनी से विदेश हवाई यात्रा की टिकटें खरीद कर अपने क्लाइंट्स को बेची और पता चला की लाखों रुपये की टिकटे हैं फ़र्ज़ी। शहर की नामी जामी ट्रेवल एजेंसी – प्लैनेट हॉलिडे पिछले करीब 4 साल से शहर में अपना वर्चस्व बनाये हुए है। हाल ही में प्रकाश झा नाम के एक शख्स ने प्लेनेट हॉलिडे को मार्किट रेट से सस्ते दामो पर टिकट देने का दावा किया, परखने के लिए प्लेनेट हॉलिडे के मालिक सौरभ कुमार ने इस कम्पनी को कुछ बुकिंग्स दी जो कि सफल रही। पहले तो कुछ बुकिंग्स सस्ते दामो में देकर इस फ़र्ज़ी कम्पनी ने भरोसा जीता और फिर 15 लाख रुपये से ऊपर की टिकटें दी फ़र्ज़ी। न सिर्फ प्लैनेट हॉलिडे बल्कि दिल्ली एन. सी. आर की करीब 20 से ज़्यादा ट्रैवेल एजेंसियों को करीब 2 करोड़ रुपये की फ़र्ज़ी टिकटें देकर प्रकाश झा फरार हो गया। दरभंगा, बिहार का रहने वाला ये व्यक्ति मास्टर माइंड है।

ये ट्रैवेल एजेंट्स से पूरी रकम लेकर बुकिंग उठाता था और यात्रा ऑनलाइन, एटलस, ईस माई ट्रिप जैसी बड़ी कंपनियों को मात्र कैंसेलेशन चार्ज देकर टिकट बुक करवा लेता था, फिर उन टिकटों को ट्रैवेल एजेंट को सौंप देता था, ट्रैवेल ऐजेंट उसे क्लाइंट को दे देते। इंटरनेट पर व एयरलाइन में वो टिकट वैलिड रहती थी पर यात्रा की तारीख से एक दिन पहले पूरा पैसा जमा न होने की वजह से एयरलाइन उसे रद्द कर देती व यात्री ट्रैवेल न कर पाता था। ऐसे में इन ट्रेवेल एजेंट्स को अपने क्लाइंट्स को तत्काल रेट पर टिकट उठा कर देनी पड़ी जिस से लाखों रुपये का नुकसान भुगतना पड़ा। सौरभ का कहना है कि वह 25 लाख रुपये से ज़्यादा का नुकसान भुगत चुकें हैं पर शहर में अपनी ट्रेवल एजेंसी का नाम बनाये रखने के लिए एक भी बुकिंग कैंसिल नहीं होने दी।

केस की जांच के लिए याचिका सी.पी. ऑफिस में लगाई गई जहां से ये केस ई.ओ.डब्ल्यू. डिपार्टमेंट को सौंपा गया। पता चला है कि यह प्रकाश झा पहले पंजाब के कई शहर चंडीगड़, लुधियाना, जलन्धर में हज़ारों लोगों को चूना लगा चुका है। इस फ्रॉड व्यक्ति के 9 चालू बैंक एकाउंट सामने आए जिनसे बिना टैक्स के रोज़ का लाखों का लेन देन होता था। प्रकाश पिछले 15 दिनों से फरार है। इसके घर व ऑफिस जो कि किराये के थे, दोनों पर ही ताला लगा है। इसके 4 फोन नम्बर हैं और सब ही बंद हैं। ऐसे फ्रॉड टिकट विक्रेताओं से ग्राहक को सतर्क रहने की आवश्यकता है।

LEAVE A REPLY