फरीदाबाद कोर्ट में फिर लगे पोस्टर, LN पाराशर बोले जेल भेजे जा रहे हैं बेगुनाह , जागो न्याय की देवी जागो

0
429

फरीदाबाद: जिला अदालत में आज फिर पोस्टर चिपकाये गए हैं जिनमे बड़े सवाल उठाये गए हैं। पोस्टर में लिखा गया है कि चंद जजों की वजह से गरीबों को न्याय नहीं मिल पा रहा है। बार एसोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष एवं न्यायिक सुधार संघार समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर ने ये पोस्टर लगवाए हैं। पोस्टर में क्या लिखा है पढ़ें
हे न्याय की देवी, कब खुलेगी आपकी आँखों पर से पट्टी

 फरीदाबाद कोर्ट चंद जजों की वजह से सत्यमेव जयते की जगह असत्य का बोलबाला
 गुनहगार हो रहे हैं बरी, बेगुनाहों को मिल रही है सजा
 न्याय के मंदिर में गरीबों संग हो रहा है अन्याय
 एक ही धारा ‘304 बी’ के मामले को 302 में कन्वर्ट करके, एक ही कोर्ट ने एक आरोपी के खिलाफ गवाही होने पर भी किया बरी जबकि एक अन्य केस में उसी धारा में पीड़ित पक्ष ने आरोपी के पक्ष में गवाही दिया तो भी आरोपी को सुना दी गई उम्र कैद की सजा (अब तक नहीं मिली आर्डर की कॉपी, जज ने ड्राफ्ट पर ही करवा लिए हस्ताक्षर)
 सेशन जज भी हैं इसमें भागीदार क्योंकि इस जज से केस ट्रांसफर की मांग करने पर करते हैं इंकार
 ऐसे कई मुकदमों में बेगुनाहों को भेजा जा रहा नीमका जेल
 युवा वकीलों को कंटेम्प्ट का भय दिखाकर गिराया जा रहा है उनका मनोबल
 एक और बेगुनाह गरीब को मिलने वाली है उम्रकैद की सजा (जो पहले ही काट चुका है सजा)
 जागो न्याय की देवी जागो
 चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी एवं प्रोसेस सर्वर जजों के यहाँ कर रहे हैं बंधुवा मजदूरों की तरह काम (सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की उड़ाई जा रही धज्जियाँ)

एडवोकेट एल एन पाराशर
(पूर्व प्रधान बार एसोशिएशन, फरीदाबाद,
अध्यक्ष न्यायिक सुधार संघर्ष समिति)
Mobile: 9818379315, Chamber No. 382

LEAVE A REPLY