फरीदाबाद सहित कई जिलों के सभी गावों में 24 घंटे बिजली का दावा, खट्टर को ले डूबेंगे बिजली अधिकारी

0
303

नई दिल्ली: हरियाणा की भाजपा सरकार को कोई और नहीं कुछ सरकारी विभाग के अधिकारी कमजोर कर रहे हैं। ये अधिकारी कुछ वैसे हैं जैसे कुछ साल पहले एक राज्य में कागज़ पर कुआं तालाब खोदकर वहाँ के अधिकारी पैसा डकार जा रहे थे। एक लघु स्टोरी द्वारा आपको बता दें कि एक राज्य में एक बड़े तालाब को मंजूरी मिली। अधिकारीयों ने कागज़ पर तालाब बनाकर पैसा पास करवा लिया और डकार गए। उसके कुछ साल बाद किसी ने शिकायत कर दी कि तालाब नहीं खोदा गया है तो अन्य अधिकारी जांच करने पहुंचे और वहाँ तालाब नहीं मिला तो अन्य अधिकारियों ने ऊपर तालाब न होने की रिपोर्ट नहीं पहुंचाई बल्कि ये लिखा कि तालाब तो है लेकिन सूखा है इसलिए तालाब में पानी भरवाने के लिए कुछ राशि मंजूर की जाए। वो राशि बी मंजूर हो गई और उन अधिकारियों ने तालाब में पानी भरवाने के नाम पर वो धनराशि डकार गए।

उसके कुछ वर्ष बाद फिर किसी ने शिकायत की कि यहाँ कोई तालाब नहीं खुदा है पैसा कहाँ गया तो फिर उस समय के कुछ अन्य अधिकारी जांच के लिए वहाँ पहुंचे। वो अधिकारी भी खब्बू थे और उन्होंने भी खाने का जुआड़ सोंचा। उन अधिकारियों ने ये लिखा कि तालाब बहुत गहरा है। स्थानीय लोग और जानवर तालाब में डूबकर मर रहे हैं और यहाँ तालाब की जरूरत भी नहीं है इसलिए इसमें मिट्टी डलवा इसे समतल करवाया जाए ताकि स्थानीय लोगों की जान बचाई जाए और इसके लिए कुछ धनराशि की मंजूरी प्रदान की जाए। फिर ऊपर से पैसा पास हो गया और जो तालाब न कभी खुदा था न उसमे कभी पानी भरा था अब कागजों पर फिर दिखा दिया गया कि तालाब समतल करवा दिया गया है। इस तरह खब्बू अधिकारी उस राज्य की सरकार को बेवकूफ बना करोड़ों डकार गए। बाद में जांच हुई तो कइयों को जेल जाना पड़ा।
अब बात कर रहे हैं हरियाणा सरकार के बिजली विभाग की जिसकी ताजा रिपोर्ट है कि प्रदेश में पंचकूला, अम्बाला, फरीदाबाद, गुरुग्राम, फतेहाबाद और सिरसा जिलों के सभी गांवों में 24 घण्टे बिजली की आपूर्ति हो रही है तथा अन्य जिलों के गांवो को 22, 18 व 15 घण्टे बिजली की आपूर्ति की जा रही है। बिजली विभाग की ये खबर कुछ हजम नहीं हो रही है। इन सभी गावों में 24 घंटे बिजली नहीं आ रही है। ये अधिकारी सरकार को वो? बना रहे हैं। वो का मतलब आप समझ जाएँ।

LEAVE A REPLY