सपा की टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं योगी के घर आलू फेंकने वाले नेता

0
284
2 arrested for throwing potatoes outside Vidhan Sabha building on 6 January

लखनऊ: नेता बेचारे सत्ता के लिए गजब की साजिश रचते रहते हैं। उत्तर प्रदेश में आलू काण्ड का मामला काफी तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने जिन दोनों नेताओं को गिरफ्तार किया वो समाजवादी पार्टी की टिकट पर चुनाव भी लड़ चुके हैं। पुलिस ने आज एक प्रेस वार्ता कर बताया कि गिरफ्तार किये गए दोनों नेता सपा की टिकट पर नगर पंचायत का चुनाव लड़ चुके हैं। पुलिस के मुताबिक़ आलू काण्ड में किसानों का कोई हाँथ नहीं था। किसान युनियन ऐसे किसी मामले से इंकार कर रही है। मालूम हो कि लखनऊ में विधानसभा और सीएम हाऊस के बाहर आलू फेंकने का मामला काफी तूल पकड़ने लगा था। सोशल मीडिया पर सपा नेता सीएम योगी को घेर रहे थे लेकिन अब पता चला कि आलू फेंकने वाले वाले किसान नहीं बल्कि सामाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता थे। लखनऊ पुलिस ने इस मामले में कन्नौज से सपा के दो नेताओं को गिरफ्तार किया है। कहा जा रहा है कि आलू फेंकने की योजना अखिलेश यादव के दो करीबी नेताओं ने मिल कर बनाई थी। आलू फेंकने की घटना को योगी सरकार ने बदनाम करने की साजिश बताया था।

आलू, कन्नौज के कोल्ड स्टोरेज से आठ गाड़ियों में भर कर लखनऊ लाया गया था। यूपी पुलिस को अनुसार कन्नौज में समाजवादी पार्टी नेता कक्कू चौहान और एक महिला नेता के पति ने ये पूरी प्लानिंग की थी. पांच जनवरी को सब लोग समाजवादी पार्टी के यूथ विंग के लखनऊ ऑफिस के पास जमा हुए थे।

पूर्व सीएम अखिलेश यादव के दो करीबी नेता भी यहां पहुंचे। सबने साथ खाना खाया /तय हुआ कि सवेरे-सवेरे लखनऊ की आठ जगहों पर आलू फेंके जाएंगे। कन्नौज के प्रदीप सिंह और अंकित सिंह को ये काम दिया गया। सीसीटीवी कैमरों में गाड़ी और आलू फेंकने वालों की तस्वीरें पुलिस ने निकाल ली हैं। मोबाइल फ़ोन पर उनके लोकेशन से पुलिस ने इस पूरे खेल से परदा उठा दिया है। इस मामले में समाजवादी पार्टी के एक नेता और उनकी फॉर्चूनर गाड़ी को पुलिस ने पकड़ लिया है। अब अंकित भी गिरफ्तार हो चुका है।

LEAVE A REPLY