मजदूरी करके पेट पाल रहा है ओलंपिक में दो स्वर्ण पदक जीतने वाला खिलाड़ी

0
189
17-year-old Rajvir Singh, double gold medalist in cycling at the Special Olympics

नई दिल्ली: हमारे देश के कई खेलों के खिलाड़ी इतना मालामाल हो गए हैं कि वो विदेशों में जाकर शादी करते हैं, करोड़ों लुटा देते हैं। बड़ी बड़ी गाड़ियों पर चलते हैं, बड़े बड़े शहरों में बड़े बड़े बंगलों में रहते हैं। कई खेल ऐसे भी हैं जिस खेल में खिलाड़ी ओलंपिक दो दो स्वर्ण पदक जीतते हैं और देश में उन्हें मजदूरी करके अपना पेट पालना पड़ता है। बड़े शर्म की बात है। ओलंपिक कोई वैसे ही नहीं जीत लेता, जमकर पसीना बहाना पड़ता है। देश के लाखों युवा ओलंपिक खेलों में भाग लेने का सपना देखते हैं लेकिन बहुत कम युवा इस मुकाम पर पहुँचते हैं। पंजाब के लुधियाना में एक ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता मजदूरी करके पेट पाल रहा है। एक मजदूर के बेटे राजवीर सिंह ने अमेरिका के लॉस एंजल्स में हुए सुपर ओलंपिक के साइकिल में दो स्वर्ण पदक जीते थे। लेकिन, अब वह दो जून की रोटी के लिए भी संघर्ष कर रहा है।

17 वर्षीय राजवीर सिंह, विशेष ओलंपिक विश्व खेलों में साइक्लिंग में डबल स्वर्ण पदक विजेता, लुधियाना में एक श्रमिक के रूप में काम करते हैं, पिता बलवीर सिंह ने कहा- ‘पंजाब सरकार ने 3 साल पहले वादा किया था कि 30 लाख रुपये की पुरस्कार राशि देंगे, लेकिन अभी तक नहीं मिला’ सोशल मीडिया पर सरकार की खिल्ली उड़ाई जा रही है।

https://twitter.com/Talabgaar/status/945689870319591424

LEAVE A REPLY