डबुआ में बने गरीबो के लिए फ्लैटों में करोड़ों का घोटाला? वकील पाराशर के कई चौंकाने वाले खुलासे

0
240

फरीदाबाद: शहर की डबुआ कालोनी में गरीबों के लिए बने लगभग 2000 फ्लैटों में से 202 फ़्लैट एलाट किये गए हैं जबकि कहा जा रहा है कि लगभग 1800 फ़्लैट खाली पड़े हैं। इन फ्लैटों को लेकर बार एसोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर ने एक और बड़ा खुलासा किया है। वकील पाराशर का कहना है कि यहाँ पर लगभग 150 फ्लैटों में कुछ लोग अनुचित तरीके से रह रहे हैं। शुक्रवार वकील पाराशर ने मौके का फिर जायजा लिया और जायजा लेने के बाद उन्होंने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि एक नेता के कुछ समर्थक यहाँ पर किराया लेकर अवैध रूप से सैकड़ों फ्लैटों में किरायेदार बसा रक्खे हैं।

वकील पाराशर कहा कि मैं जब मौके पर गया तो पता चला कि एक गार्ड ने यहाँ 50 फ़्लैट कब्ज़ा रक्खे हैं और ये गार्ड लोगों ने दो हजार रूपये तक किराया भी लेता है साल में फ्लैटों के बीच में बड़ी खाली जगह पर गाड़ियों की पार्किंग करवा उनसे भी पैसे लेता है। वकील पाराशर ने कहा कि कुछ लोगों ने उन्हें बताया कि यहाँ के विधायक कुछ समर्थक यहाँ के फ्लैटों को किराए पर उठा रक्खे हैं और लाखों का किराया वसूल रहे हैं। वकील पाराशर ने कहा कि फरीदाबाद प्रशासन भी इस गड़बड़झाले में मिला हुआ है तभी तो सरकारी मकानों में निजी लोग अपने किरायेदार बैठा रक्खे हैं। उन्होंने कहा कि मैंने मौके का जायजा लिया तो मैंने देखा कि लगभग 10 साल पहले बने ये फ़्लैट अब गिरने लगे हैं। इनकी दीवारें गिरने लगीं हैं जिस कारण लगता है कि ये फ़्लैट घटिया मैटेरियल से बनाया गया था और इसमें भी करोड़ों का घोटाला हुआ है। उन्होंने कहा कि यहाँ जो 202 लोग बसाये गए हैं उन्हें भी मूलभूत सुविधाएँ नहीं दी जा रहीं हैं। वो सीवर का पाने पीने पर मजबूर हैं। वकील पाराशर ने बताया कि एक स्थानीय महिला ने उन्हें बताया कि इन फ्लैटों में रहने वाले 90 लोग अब तक किसी न किसी बीमारी के कारण अपनी जान गँवा चुके हैं।

वकील पाराशर ने कहा कि यहाँ बहुत बड़ा घोटाला हुआ है। इसकी जांच करवाई जाए। उन्होंने कहा कि सरकार फ्लैटों में जिन नेताओं ने किरायेदार बैठा रक्खे हैं उन पर मामला दर्ज किया जाए और जल्द से जल्द इन फ्लैटों की मरम्मत करवा गरीबों को दिया जाए। उन्होंने कहा कि यहाँ जो घोटाला हुआ है और जो गड़बड़झाला किया जा रहा है उसकी शिकायत मैं पीएम और हरियाणा के सीएम से करूंगा।

LEAVE A REPLY