इंस्पेक्टर विमल कुमार की टीम ने मुहम्मद युनुस को दबोचकर किया भैंस-लूट कांड का खुलासा, पढ़ें

0
704
inspector-vimal-kumar-exposed-bhains-loot-kand-faridabad-ncr

फरीदाबाद, 24 सितम्बर: पिछले कई महीनों से फरीदाबाद, पलवल और दिल्ली एनसीआर क्षेत्रों से सैकड़ों भैंस चोरी का मामला सामने आया है, जानवर चोरीं की बढती वारदातों को देखकर फरीदाबाद पुलिस की सेक्टर-17 अपराध साखा में एंटी कैटल थेफ़्ट विंग का गठन किया है, इसके प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार हैं.

आज विमल कुमार की टीम को बड़ी कामयाबी मिली है, उन्होंने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है जो एक डेयरी पर काम करता था लेकिन जल्दी अमीर बनने के लालच में उसनें भैंस चोरी का अपराध शुरू किया, कैंटर खरीदा, 3 लोगों को हायर किया और दिल्ली, एनसीआर, फरीदाबाद, पलवल और राजस्थान से भैंसों की चोरी करने लगा.

पकडे गए भैंस-चोर का विवरण

मुहम्मद युनुस, पुत्र – याकूब, पुलिस स्टेशन – लिसारी, जिला – मेरठ, उत्तर प्रदेश.

बता दें कि फरीदाबाद पुलिस ने 18 अगस्त 2018 को छांयसा क्षेत्र में एक भैंस चोरी की घटना को रोका था, उस समय आरोपी आयशर कैंटर को छोड़कर फरार हो गए थे. इस मामले में छांयसा थाने में FIR दर्ज हुई थी (FIR No. 212 Dated 18/8/18 u/s 379,511,120B ipc ps Chainsa).

इस मामले की जांच का जिम्मा इंस्पेक्टर विमल कुमार को सौंपा गया. गाड़ी के मालिक की खोज करते हुए विमल कुमार की टीम मुहम्मद युनुस तक पहुँच गयी और दो दिन पहले उसे गिरफ्तार कर लिया.

पूछताछ में मुहम्मद युनुस ने बताया कि वह खेड़ा जलालपुर, मेरठ में एक भैंस की डेरी पर काम करता था, वह जल्द से जल्द अधिक पैसे कमाना चाहता था इसलिए उसनें एक आयशर ट्रक को खरीदकर भैंस चोरी का अपराध शुरू किया, उसनें भैंस चोरी के लिए तीन युवकों को हायर किया. भैंस चोरी करने के बाद उन्हें मेरठ के जलालपुर में एक बाजार में बेच दिया जाता था.

इस मामले में मुहम्मद युनुस ने यूपी के एक पुलिसवाले का भी नाम लिया है इसलिए इंस्पेक्टर विमल कुमार की टीम इस मामले की बारीकी से जांच कर रही है, जल्द ही सभी आरोपियों की गिरफ्तारी करके एक बड़े कांड का पर्दाफाश किया जाएगा.

LEAVE A REPLY