भागवद् गीता का श्रवण करो, जीवन तर जाएगा, धर्मबीर भड़ाना

0
507

फरीदाबाद, 20 नवम्बर। हिन्दुओं के शास्त्रों में पवित्र वेद व गीता विशेष हैं, उनके साथ-2 अठारह पुराणों को भी समान दृष्टी से देखा जाता है। श्रीमद् भागवत सुधासागर, रामायण, महाभारत भी विशेष प्रमाणित शास्त्रों में से हैं। भागवद् गीता का श्रवण करने से जीवन तर जाता है और जीवन के सभी दुख-दर्द दूर हो जाते हैं। उक्त वक्तव्य पाली क्रेशर जोन के प्रधान एवं आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता धर्मबीर भड़ाना ने गांव बडख़ल में चल रही भागवद गीता में कहे। उन्होंने कहा कि भागवद् गीता का ज्ञान बड़े ही तप और श्रद्धा से मिलता है और आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हमें अवश्य ही कुछ समय धार्मिक कार्यों के लिए निकालना चाहिए। मन और चित्त को एकाग्र करके ही भागवद गीता का श्रवण करना चाहिए, तभी यह मन और मष्तिष्क में समाहित होती है। श्री भड़ाना ने भागवद् सप्ताह के सफल आयोजन के नवयुवक मंडल दल बडख़ल के कार्यकर्ताओं सोमदत्त गौड, मूलचंद शर्मा, लक्ष्मण गौड, तेजराम गौड, सुरेश शर्मा, सुनील एडवोकेट, नारायण शर्मा, किशोर शर्मा, सुनील शर्मा, उदय शर्मा, कै. मनीष गौड, नीरज शर्मा आदि का धन्यवाद व्यक्त। इससे पूर्व गांव के लोगों ने धर्मबीर भड़ाना का फूल-मालाओं से स्वागत किया और उन्हें स्मृति चिन्ह प्रदान किया।
भागवद सप्ताह में मथुरा वृंदावन से आई अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त साध्वी रामसखी ने भव्य गुणगान कर भक्तों को बांध रखा और श्रोताओं का मंत्र-मुग्ध कर दिया। महिलाओं की भारी भीड़ भागवद सप्ताह सुनने के लिए उमड़ी हुई और भजनों की मधुर धुनों पर नाच-गाकर भागवद सप्ताह का रसास्वादन कर रही थी। मंदिर के पुजारी स्वामी बालकृष्ण महाराज ने ब्रह्म एवं पं. रघुना शर्मा ने परिक्षित की भूमिका अदा की।

LEAVE A REPLY