दिल्ली के नटवर लालों का अनोखा रूप , टिकट दिलाने के नाम पर नेताओ को बना रहा है बेवकूफ

0
91
नई दिल्ली: हरियाणा के तमाम नेता आजकल दिल्ली में देखे जा रहे हैं। कारण शायद भाजपा की टिकट का जुआड़ लगाना है। हरियाणा अब तक को अपने खास सूत्रों द्वारा पता चला है कि दिल्ली में कई नटवरलाल भी घूम रहे हैं जो नेताओं को बड़ा चूना लगाने के फिराक में हैं। हो सकता है कई नेताओं को ये नटवर लाल चूना लगा भी चुके हों। सूत्रों की मानें तो इन नटवर लालों ने प्रदेश में अपने जानने वालों को छोड़ रखा है और इनके जानने वाले ऐसे लोगों से संपर्क कर रहे हैं जो भाजपा की टिकट मांग रहे हैं और जिनके पास माल बहुत है। नटवर लाल के लोग ऐसे नेताओं से संपर्क कर रहे हैं और फिर ऐसे नेताओं को दिल्ली बुलाया जाता है और फिर एक अच्छे होटल में नटवर लाल ऐसे नेताओं से मिलते हैं और उनसे कहते हैं कि उनकी बड़े नेताओं से अच्छी जान पहचान है और टिकट दिला देंगे। ऐसे नेताओं से नटवर लाल कहते हैं कि हरियाणा की हर विधानसभा सीटों के  उम्मीदवारों का पैनल बन चुका है और लिस्ट देखनी पड़ेगी कि उस पैनल में आपका नाम शामिल है या नहीं। इसके बाद नटवर लाल नेताओं को अगले दिन बुलाते हैं और कहते हैं कि कल तक लिस्ट देख लूँगा। फिर अगले दिन जब नेता नटवर लाल से किसी होटल में मिलता है तो नटवर लाल खामोश हो जाते हैं जैसे उन्हें सांप सूंघ गया हो और दर्द भरा दिल लेकर कहते हैं कि आपका नाम तो लिस्ट में शामिल ही नहीं है।
आपको टिकट नहीं मिल सकती। फिर टिकट लोभी मालदार नेता  कहता है कि अब क्या होगा तो नटवर लाल कहते हैं कि पहले पैनल वाली लिस्ट में नाम डलवाने का प्रयास करना पड़ेगा और इसके लिए वो नेताओं से 10- 20 लाख तक मांग लेता है और नेता दे भी देते हैं। नटवर लाल नेताओं से कहता है कि आप मेरे जान पहचान के हैं और मुझे आपसे एक रूपये भी नहीं चाहिए। जब टिकट मिल जाये तो ख़ुशी से जो देना हो दे देना। ये पैसे लिस्ट में नाम डलवाने के लिए किसी को देने पड़ेंगे और ऐसा बोल नटवर लाल नेताओं से 10-20 लाख रूपये झटक लेता है और कहता है लिस्ट में नाम शामिल करवा दिया हूँ और इन्तजार करें टिकट की घोषणा का और अपने क्षेत्र में जाकर टीवी चैनल और अखबारों पर अपने बयान देते रहें। क्षेत्र में प्रचार करते रहें।
सूत्रों की मानें तो ये नटवर लाल लोग अब से नहीं कई वर्षों से चुनाव के समय दिल्ली में सक्रीय हो जाते हैं। 2014 में ये नटवर लाल कई कांग्रेसी और इनेलो के नेताओं को ठग चुके हैं। बेचारे नेता चुप रहते हैं और किसी से बताते नहीं है क्यू कि बताने से बदनामी हो जाएगी। इसी बात का ये नटवर लाल फायदा उठाते हैं। ऐसे नटवर लालों से प्रदेश के नेता सावधान रहें। 2014  में कुछ ठगे जा चुके नेताओं ने ही ये सटीक जानकारी दी है। उस समय ये नेता कांग्रेस और इनेलो की टिकट मांग रहे थे। अब भाजपा की मांग रहे हैं और उस समय ये नटवर लाल कांग्रेस और इनेलो की टिकट दिलाने की बात करते थे अब भाजपा की टिकट दिलाने की बात करते हैं। टिकट के लेने के इच्छुक नेताओं के दिल्ली गमन के दौरान उनसे किसी नटवर लाल की मुलाक़ात हो गई जो 2014 में उन्हें चूना लगा चुका था और इस बार नेता जी उस नटवर लाल के चंगुल में नहीं फंसे। नेताओं ध्यान रखें, ऐसे नटवर लालों से सावधान रहें।

LEAVE A REPLY