चल रहे कश्मीरी मुद्दे में राहुल गाँधी के बाद हरियाणा के मुख़्यमंत्री मनोहर लाल भी फंसे

0
70

नई दिल्ली: भारत के कुछ नेताओं की फिसली जुबान का पाकिस्तान जमकर इस्तेमाल कर रहा है।जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए को निरस्त करने के खिलाफ पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में अपनी याचिका में राहुल गांधी के अलांवा दो भाजपा नेताओं के बयानों को सबूत के तौर पर पेश किया है। इन नेताओं में हरियाणा के मुख्य्मंत्री मनोहर लाल और भाजपा विधायक विक्रम सैनी के बयान भी शामिल किये गए है।

पाकिस्तान की तरफ से  कहा गया है कि 10 अगस्त 2019 को मनोहर लाल खट्टर ने कश्मीरी लड़कियों से शादी करने को लेकर एक बयान जारी किया था।  मुख्यमंत्री खट्टर ने फतेहाबाद में महर्षि भागीरथ जयंती समारोह के एक राज्य-स्तरीय समारोह को संबोधित करते हुए कथित रूप से कहा था, ‘पहले ओपी धनकड़ कहते थे कि हम बिहार की लड़कियों को हरियाणा में शादी के लिए लाएंगे।  अब कुछ लोग कह रहे हैं कि हम कश्मीर से लड़कियां लाएंगे. लेकिन मजाक एक तरफ. हमारे समाज में लिंगानुपात सही होने के बाद ही हम संतुलन बना सकते हैं।
अभी तक भाजपा राहुल गांधी को जमकर घेर रही थी जिसके बाद राहुल गांधी ने ट्वीट कर खंडन किया लेकिन अब हरियाणा के सीएम का भी नाम राहुल गांधी के साथ जुड़ गया है। पाकिस्तान के मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने टि्वटर पर आठ पेज का पत्र शेयर किया गया है, जिसमें राहुल गांधी के साथ साथ मनोहर लाल खट्टर और विक्रम सैनी का भी नाम है।

LEAVE A REPLY